आतंकवाद, उग्रवाद और काला धन को रोकने के नाम पर किए गए नोटबंदी का परिणाम पिछले 4 सालों से पूरा देश झेल रहा है - इफ्तेखार महमूद


 प्रधानमंत्री द्वारा हर साल 14 अगस्त को "विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस" का आयोजन करने की घोषणा पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी झारखंड राज्य कार्यसमिति के सदस्य तथा झारखंड आंदोलनकारी इफ्तेखार महमूद ने कहा कि उपर्युक्त आयोजन के जरिए देश के नागरिकों के बीच धार्मिक आधार पर वैमनस्यता फैलाने का भाजपा के दलीय एजेंडे पर काम होगा।


श्री महमूद ने कहा कि पिछले सात सालों में श्री नरेंद्र भाई मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में जो भी घोषणाएं किया है- उन घोषणाओं का अनुकूल नहीं बल्कि प्रतिकूल परिणाम ही सामने आया है। आतंकवाद, उग्रवाद और काला धन को रोकने के नाम पर किए गए नोटबंदी का परिणाम पिछले 4 सालों से पूरा देश झेल रहा है और कालाधन में कमी नहीं, बल्कि बढ़ोतरी ही हुई है। जीएसटी के कारण देश के लाखों छोटे एवं मझोले उद्योग बंद हो गए और महंगाई अनियंत्रित हो गई है। जम्मू -कश्मीर का विकास की बात कह कर के 2 वर्ष पूर्व धारा 370 को हटाने से भाजपा का एजेंडा भले ही पूरा हुआ हो, किंतु पिछले 2 वर्षों में  विकास की बात तो छोड़िए, जम्मू कश्मीर में शांति भी कायम नहीं हो पाई है।

              श्री महमूद ने कहा की जिस ढंग से नोटबंदी, जीएसटी, धारा 370 से देश और देशवासियों को नुकसान ही नुकसान हुआ है, उसी तरह "विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस" का आयोजन कर देशवासियों के बीच हिंदू मुस्लिम के आधार पर वैमनस्यता बढ़ाने का भाजपा के एजेंडा पर काम होने से इंकार नहीं किया जा सकता है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश