पटना महानगर कांग्रेस कमिटी ने पूर्व मुख्यमंत्री स्व0 बिन्देश्वरी प्रसाद मंडल की जयंती मनाई।

 

मो0 इम्तियाज़ दाऊदी - पटना ब्यूरो

पटना - समाजिक न्याय के पुरोधा, मंडल आयोग के अध्यक्ष, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री स्व0 बिन्देश्वरी प्रसाद मंडल जी की जयंती पर उनका स्मरण करते हुए पटना महानगर काग्रेस कमिटी के अध्यक्ष शशि रंजन ने श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि अधिकार और सम्मान के लिए लड़ी गयी लड़ाई हमसब के लिए प्रेरणा स्त्रोत है। बी0पी0मंडल आधुनिक इतिहास में पिछड़े, दलित एवं दबे-कुचले लोगों के लिए क्रांतिकारी व्यक्तित्व, मुरहो(मधेपुरा) स्टेट के जमींदार होते हुए भी स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय और कांग्रेस पार्टी में बिहार से स्थापना सदस्यों में एक, बी0पी0मंडल के पिता रास बिहारी लाल मंडल, सुरेन्द्र नाथ बनर्जी, बिपिन चन्द्र पाल, सच्चिदानंद सिन्हा जैसे प्रमुख नेताओं के साथी 1907 से 1918 तक बिहार प्रांतीय कांग्रेस कमिटी और ए.आई.सी.सी. के बिहार से निर्वाचित सदस्य थे।


वर्ष 1917 में कांग्रेस के कलकत्ता विशेष अधिवेशन में सबसे पहले पूर्ण स्वराज की मांग की थी। देश के प्रथम राष्ट्रपति डा0 राजेन्द्र प्रसाद एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मौलाना अब्दुल कलाम आजाद के सहयोग से मधेपुरा विधान सभा से 1952 के प्रथम चुनाव में बी0पी0मंडल कांग्रेस प्रत्याशी बने और चुनाव जीत गये। 1962 में पुनः चुने गये और 1967 में मधेपुरा से लोकसभा सदस्य चुने गये। 1968 में उपचुनाव जीतकर पुनः लोकसभा सदस्य बने। 1 फरवरी,1967 में बिहार के मुख्यमंत्री बने। वे ओजस्वी प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे। उनके बताये मार्ग पर चलना ही हमसबों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी। 

    इस अवसर पर पटना महानगर कांग्रेस कमिटी के उपाध्यक्ष विकास वर्मा, महासचिव सुदय शर्मा, नीरज कुमार, सचिव जावेद इकबाल, साहिल राज, मंटू कुमार, अबू जाफर, नसर आलम आदि उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग