सपा सुप्रीमो ने तो वैक्सीन को भाजपा का बताकर मुस्लिम समाज में भ्रम पैदा कर दिया।


 ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के राष्ट्रीय महासचिव मुस्तकीम मंसूरी ने सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव द्वारा वैक्सीनेशन पर लिए गए यू टर्न पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि पहले तो सपा सुप्रीमो ने वैक्सीन लगवाने से यह कहकर इंकार कर दिया था। कि भाजपा की वैक्सीन हम नहीं लगवाएंगे उनके इस तरह के बयान से उत्तर प्रदेश की जनता तो भ्रमित नहीं हुई। परंतु सपा कार्यकर्ता जरूर भ्रमित हो गए थे, और उन्होंने सरकार द्वारा लगवाई जा रही वैक्सीन के विरुद्ध जनता में ग़लत प्रचार करना शुरू कर दिया था। यही कारण रहा उत्तर प्रदेश की जनता में विशेष कर मुस्लिम समाज में भ्रम तेजी से फैलने लगा था, जिसके कारण मुस्लिम समाज में भी काफी मौतें कोरोना के कारण हुई। परंतु सपा सुप्रीमो यहां भी राजनीति करने से नहीं चूके और जनता को यह संदेश देने लगे कि हमारी 2022 में सरकार आएगी तो पूरे प्रदेश में फ्री वैक्सीनेशन किया जाएगा। अब यहां सवाल यह उठता है कि एक साल तक जनता कोरोना महामारी से किस तरह बचे सपा सुप्रीमो ने तो वैक्सीन को भाजपा का बताकर मुस्लिम समाज में भ्रम पैदा कर दिया। जबकि हकीकत यह है, कि केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए 35 हजार करोड़ का बजट जारी किया था। और  उस बजट से कई गुना ज्यादा देशवासियों ने सरकार को चंदा भी दिया था। तो वैक्सीन भाजपा की कैसे हो गई?

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा मुलायम सिंह यादव के आशीर्वाद से दोबारा प्रधानमंत्री बनने का सौभाग्य प्राप्त करने वाले नरेंद्र मोदी द्वारा तैयार कराई गई वैक्सीन नेताजी मुलायम सिंह यादव ने लगवा कर अखिलेश यादव द्वारा फैलाया गया भ्रम एक पल मैं दूर कर दिया। और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव को यू टर्न लेना पड़ा। यह इस बात का प्रमाण है सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव में नेताजी मुलायम सिंह यादव जैसे गुण नहीं है। वरना इस तरह कोरोना महामारी में और देश की जनता को भ्रमित करने वाला बयान नहीं देते।

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा सरकार ने भले ही फैसला लेने में देर की लेकिन सरकार को देश में बढ़ते जनाक्रोश के सामने विवश होकर फैसला लेना पड़ा इसलिए हम सभी देशवासियों से अपील करते हैं। के सभी लोग वैक्सीन का टीका  लगवाएं किसी तरह के भ्रम में ना पड़े क्योंकि कोरोनावायरस से बचने का वैक्सीनेशन ही एकमात्र रास्ता है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया