सपा मुस्लिमों का वोट तो लेना चाहती है लेकिन उन्हें कुछ देना नहीं चाहती, सपा जिला पंचायत अध्यक्षों के नाम में एक भी मुस्लिम नाम नहीं होना - शर्मनाक mustaqim mansoori

 ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के राष्ट्रीय महासचिव मुस्तकीम मंसूरी ने सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव द्वारा जिला पंचायतों के 16 जिलों के अध्यक्ष के नामों की जो सूची जारी की है। अगर यह सही है। तो बहुत शर्मनाक है। क्योंकि जिन 16 जिलों के अध्यक्ष पद के नाम जो सूची में दर्शाए गए हैं। उसमें 15 नाम अखिलेश यादव सपा सुप्रीमो के सजातीय वर्ग से हैं। और एक नाम मनदीप कौर बिजनौर से अध्यक्ष पद के लिए सिख समाज से लिया गया है। जो मुसलमानों के लिए अत्यंत गंभीर चिंता का विषय होना चाहिए। क्योंकि बिजनौर जिला पंचायत सदस्य पद के चुनाव में 21 मुस्लिम उम्मीदवार चुनाव जीत कर आए हैं। जिनमें सपा सुप्रीमो को एक भी जिला पंचायत अध्यक्ष होने योग्य नजर नहीं आया, परंतु वहां सरदार जी का नाम जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए घोषित कर के साफ कर दिया की समाजवादी पार्टी को मुस्लिम वोट तो चाहिए वह भी भाजपा को हराने के नाम पर क्योंकि भाजपा को हराने का ठेका मुसलमानों ने ले रखा है।

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा कहीं सपा, बसपा, कांग्रेश चुनाव हारते हैं। तो सीधा हार का ठीकरा मुसलमानों पर फोड़ दिया जाता है। यादव, ठाकुर, ब्राह्मण, दलित, आदि भाजपा के साथ गया तो अखिलेश यादव, मायावती, राहुल गांधी सहित तमाम नेताओं को सांप सूंघ जाता है। परंतु मुसलमानों की समझ में फिर भी यह नहीं आता है। उन्होंने कहा मुसलमानों कोई अच्छी तरह समझ लेना चाहिए भाजपा उनके हराने से नहीं हारे गी, भाजपा हारे    ‍गी। तो सपा, बसपा, कांग्रेस, लोक दल, मुस्लिम मजलिस और पीस पार्टी के साथ आने से हारे गी।

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा जिस तरह गठबंधन की राजनीति के जनक डॉक्टर अब्दुल जलील फरीदी ने कांग्रेस को हराने के लिए दलित मुस्लिम पिछड़ों का नारा देकर त्रिगुट मोर्चा बनाया था। ठीक उसी तरह इन 6 पार्टियों का मोर्चा बनाकर भाजपा को हराया जा सकता है। परंतु इसके लिए सपा बसपा को अपना अहम छोड़ना होगा। उन्होंने कहा आज भाजपा को सत्ता के द्वार तक पहुंचाने का काम सपा बसपा और कांग्रेस ने मिलकर किया है। और सत्ता से उतारने का काम भी सपा, बसपा, कांग्रेस को मुस्लिम मजलिस, पीस पार्टी और लोकदल को साथ लेकर करना होगा


टिप्पणियाँ

Unknown ने कहा…
मुस्तकीम साहब आपने बिल्कुल सही कहा है मुस्लिम तो तेजपत्ता कि तरह है जिसके बिना बिरयानी नही बनती पर सबसे पहले
उसी को निकाल कर बाहर कर दिया जाता है सारी पार्टियों ने मु्स्लिम को हमेशा इस्तेमाल किया है पर ये नही समझते

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया