उत्तराखंड में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में गंभीर नहीं है भाजपा के नेता, अब मंत्री गणेश जोशी और बीजेपी विधायक उमेश शर्मा काऊ आमने सामने, क्या इनका मकसद कोरोना से लड़ना है, या एक दूसरे से।



 उत्तराखंड में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में गंभीर नहीं है भाजपा के नेता, अब मंत्री गणेश जोशी और बीजेपी विधायक उमेश शर्मा काऊ आमने सामने, क्या इनका मकसद कोरोना से लड़ना है, या एक दूसरे से।


बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट


कोरोना महामारी पर उत्तराखंड सरकार में विधायक और मंत्री में छिड़ी जंग


कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी और रायपुर विधायक उमेश शर्मा के बीच चल रहा है शीत युद्ध


उत्तराखंड भाजपा मैं आखिरकार हो क्या रहा है कोरोना की इस महामारी में जहां तमाम नेताओं मंत्रियों और विधायकों को मुख्यमंत्री के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना चाहिए और कैसे कोरोना केस महामारी के खिलाफ जंग को हम जीते हैं यह लक्ष्य होना चाहिए लेकिन इसके बावजूद मंत्री विधायक और नेता एक दूसरे के खिलाफ बयान बाजी करने में ही मशगूल हैं हालात यह हैं कि कोई पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ सवाल उठा रहा है तो कोई मंत्री के खिलाफ वही अब देहरादून में रायपुर स्थित कोविड केयर सेंटर को लेकर पिछले कई दिनों से कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी और रायपुर विधायक उमेश शर्मा के बीच चल रहा शीतयुद्ध गुरुवार को सतह पर आ गया। सेंटर का निरीक्षण करने पहुंचे मंत्री ने उसकी उपयोगिता पर सवाल उठाते हुए सरकारी धन की बर्बादी के आरोप लगाए।उन्होंने कहा कि वहां आईसीयू है ही नहीं। इस पर विधायक उमेश शर्मा ने पलटवार किया। उन्होंने कहा कि मंत्री बिना देखे बोल रहे हैं। आईसीयू में 14 मरीज भर्ती हैं। खुद मुख्यमंत्री भी आईसीयू का निरीक्षण करके गए हैं।रायपुर स्थित कोविड केयर सेंटर में सरकारी धन की बर्बादी की जा रही है। अधिकारी गलत जानकारी देकर भ्रम फैला रहे हैं। अधिकारियों को ये तक पता नहीं है कि यहां कितने आईसीयू और ऑक्सीजन बेड हैं। गुरुवार को सेंटर का निरीक्षण करते हुए जिले में कोविड के प्रभारी मंत्री गणेश जोशी ने यह बात कही।

उन्होंने कहा कि वह सरकारी धन के दुरुपयोग और अधिकारियों की लापरवाही की रिपोर्ट तैयार कर मुख्यमंत्री को सौंपेंगे। प्रभारी मंत्री जोशी ने कहा कि सर्वे चौक स्थित तीलू रौतेली कोविड केयर सेंटर में 128 बेड की व्यवस्था है। वहां केवल चार मरीज भर्ती हैं। रायपुर में 350 बेड उपलब्ध हैं, जिनमें केवल 20 लोग भर्ती हैं। उन्होंने कहा कि यह सरकारी धन की बर्बादी है। उन्होंने कहा कि दोनों जगह के मरीजों को एक जगह शिफ्ट किया जाए। जोशी ने कहा कि अधिकारी लोगों के स्वास्थ्य को लेकर बिल्कुल भी गंभीर नहीं हैं। सीएमओ डा. अनूप डिमरी को फटकार लगाते हुए उन्होंने कहा कि आईसीयू और ऑक्सीजन बेड को लेकर झूठ बोला जा रहा है। बेड तो कोई भी लगा सकता है, लेकिन महामारी को देखते हुए अभी ऑक्सीजन सिलिंडर और आईसीयू उपकरण की जरूरत है। इस दौरान अन्य विधायकों ने भी सीएमओ की लचर कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए। इस दौरान रायपुर विधायक उमेश शर्मा, राजपुर विधायक खजानदास, धर्मपुर विधायक विनोद चमोली, एडीएम वीर सिंह बुदियाल, उप नगर आयुक्त मोहन सिंह बर्निया समेत अन्य मौजूद रहे। रायपुर स्थित कोविड केयर सेंटर में 30 आईसीयू का सेटअप तैयार है। निरीक्षण के लिए आए जिले के कोविड प्रभारी मंत्री गणेश जोशी वहां गए ही नहीं, जहां आईसीयू लगे हुए हैं। यह कहना है रायपुर विधायक उमेश शर्मा का। उन्होंने कहा कि मंत्री कोविड केयर सेंटर में जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाए।

उन्होंने कहा कि मंत्री और उनके साथ मौजूद विधायकों ने हैंगरके उस हिस्से का निरीक्षण किया, जहां तीसरी लहर की संभावनाओं को देखते हुए बेड लगाए जा रहे हैं। उन्हीं को देखकर मंत्री भड़क गए और अधिकारियों को फटकार लगा दी। जहां कोविड केयर सेंटर और आईसीयू सेटअप है, वहां तो मंत्री गए ही नहीं। उन्होंने बताया कि वहां 14 आईसीयू और 41 ऑक्सीजन बेड पर मरीज हैं।

केरल के विशेषज्ञ हमारे डॉक्टरों और सपोर्ट स्टाफ को आईसीयू संचालन की ट्रेनिंग दे रहे हैं। स्टाफ की ट्रेनिंग पूरी होने के साथ ही सभी 30 आईसीयू का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि दून मेडिकल कॉलेज की टीम ने आईसीयू का निरीक्षण किया और कुछ अन्य व्यवस्थाएं करने को कहा। उन्होंने बताया कि आज से सभी 30 आईसीयू का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया