भाजपा विधायक की पत्नी को नहीं मिला बेड जमीन पर लिटा दिया गया,उत्तर प्रदेश के हालात हुए बहुत खराब है


 आगरा- उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना पर काबू हो जाने और सभी व्यवस्था सुचारु हो जाने के रोज दावे कर रहे है लेकिन कोरोना काल में व्यवस्थाएं चौपट हो गई हैं और संसाधन कम पड़ गए हैं। आलम यह हो गया है कि भाजपा विधायक की पत्नी को कोविड वार्ड में बेड के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है, विधायक की पत्नी को भी ज़मीन पर डाल दिया गया, घंटों संघर्ष के बाद डीएम की सिफारिश पर पत्नी भर्ती हो भी गईं तो पिछले 24 घंटे से विधायक को उनकी कोई खोज-खबर नहीं मिल रही। विधायक भी संक्रमित हैं और अपनी पत्नी की कुशलता जानने को बेचैन हैं। मगर उनकी आवाज भी नक्कारखाने में तूती साबित हो रही है।आखिर विधायक को सोशल मीडिया पर अपनी वीडियो जारी कर मदद की गुहार करनी पड़ रही है। समीपवर्ती जनपद फिरोजाबाद के जसराना से विधायक रामगोपाल उर्फ पप्पू लोधी और उनकी पत्नी संध्या लोधी कोरोना संक्रमित हो गईं। दोनों का इलाज फिरोजाबाद के ओम हास्पीटल में चल रहा था। गत दिवस संध्या लोधी की तबियत बिगड़ी तो चिकित्सकों ने उन्हें आगरा के एसएन मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। विधायक ने अपनी समस्या आगरा के डीएम प्रभु नारायण सिंह को बतायी। डीएम ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को फोन करके बेड की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया। विधायक प्रतिनिधि के साथ संध्या लोधी एसएनएमसी पहुंचीं, काफी देर भटकने के बाद भी कोविड वार्ड के सुरक्षाकर्मियों ने उनको लौटा दिया। बाद में विधायक की बीमार पत्नी को घंटों इधर से उधर दौड़ाते रहे। उनकी हालत खराब होती जा रही थी। संध्या लोधी को सांस लेने में दिक्कत बढ़ी और उन्हें ज़मीन पर ही लिटाना पड़ा तो प्रतिनिधि ने विधायक को बताया। उन्होंने पुनः डीएम को फोन किया।  डीएम ने बाद में अफसरों को आड़े हाथ लिया, तब घंटों की मशक्कत के बाद उन्हें बेड मिल सका।रविवार को विधायक ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि पत्नी को अस्पताल में बेड दिलाने के लिए उन्होंने कई बार डीएम आगरा को फोन कर भर्ती कराया था। आज भी उनकी स्थिति क्या है उन्हें जानकारी नहीं है। उनकी पत्नी को अस्पताल में फर्श पर डाल दिया गया। करीब 3 घंटे तक वह जमीन पर ही लेटी रहीं। बीजेपी विधायक के मुताबिक एसएन मेडिकल कॉलेज में अच्छी तरह से इलाज नहीं मिल पा रहा है। सोचने वाली बात यह है कि जब विधायक की पत्नी को ही जमीन पर लेटना पड़ा और उन्हें इलाज नहीं मिल पा रहा है तो आम जनता का क्या हाल होगा। उन्होंने आरोप लगाया है कि उनकी पत्नी की कैसी हालत है ये भी उन्हें नहीं बताया जा रहा है और ना ही उन्हें खाना-पानी दिया जा रहा है, अधिकारी और डॉक्टर कुछ भी नहीं कर रहे हैं।विधायक ने सरकारी तंत्र पर लापरवाही करने का आरोप लगाया। कहा कि उनकी पत्नी को न तो खाना मिल रहा है और न ही पानी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आम जनता तक सुविधाएं पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन सरकारी तंत्र माननीयों के साथ भी गलत व्यवहार कर रहा है। विधायक ने कहा  कि प्रदेश के मुख्यमंत्री आम जनमानस के लिए रात में भी कार्य कर रहे हैं लेकिन अधिकारी और चिकित्सक व्यवस्था फेल करने में लगे हैं।  विधायक रामगोपाल लोधी ने कहा कि जब मैं विधायक  डीएम को फोन करके पत्नी को भर्ती करने के लिए कह रहा हूं और कोविड में बैड नहीं मिल पा रहा है तो  सोचने वाली बात है कि आम जनता की क्या हालत होगी। विधायक ने कहा कि मैं स्वयं इस बार संक्रमित होकर पत्नी के साथ भर्ती था। शनिवार को मेरी भी छुट्टी हुई है। कमजोरी बहुत है। पत्नी के पास तक नहीं जा पा रहा। मन दुखी हो रहा है कि पहली लहर में पूरे साल कोरोना काल में लोगों की मदद को आगे रहा लेकिन खुद की पत्नी बीमार हो गई तो उपचार सही से नहीं मिल पा रहा। रुंधे मन से कहा कि पत्नी की आगरा में कैसी हालत है कोई नहीं पता चल रहा। ये विडम्बना है कि विधायक होकर भी पत्नी के बारे में हालचाल नहीं पता कर पा रहा। जसराना विधायक द्वारा जारी किया गया वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया