अब देश में लोकतंत्र नहीं बचा है,बल्कि देश में नरेंद्र मोदी की हिटलर शाही चल रही है,केंद्र की भाजपा सरकार ने लोकतंत्र की हत्या की है। मुस्तकीम मंसूरी

 अब देश में लोकतंत्र नहीं बचा है,बल्कि देश में नरेंद्र मोदी की हिटलर शाही चल रही है,केंद्र की भाजपा सरकार ने लोकतंत्र की हत्या की है। मुस्तकीम मंसूरी



मुस्लिम मजलिस के कार्यकर्ताओं ने काला दिवस मनाते हुए किसान आंदोलन का किया समर्थन

देश के किसानों को इन काले कृषि कानूनों की जरूरत नहीं थी अडानी, अंबानी को खुश रखने का प्रयास है कृषि क़ानून

ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के राष्ट्रीय महासचिव मुस्तकीम मंसूरी ने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए काले कृषि कानूनों के विरोध में आज 26 मई को 6 महीने पूरे होने पर कहा कि मुस्लिम मजलिस किसान आंदोलन में शुरू से किसानों के साथ खड़ी है। 

और आज भी मुस्लिम मजलिस के कार्यकर्ताओं ने काला दिवस मनाते हुए किसान आंदोलन का समर्थन किया है। और जब तक केंद्र सरकार तीनों काले कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती मुस्लिम मजलिस का एक एक कार्यकर्ता किसानों के सहयोग में खड़ा है। और खड़ा रहेगा।

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा कि भाजपा सरकार ने लोकतंत्र की हत्या की है। अब देश में लोकतंत्र नहीं है। बल्कि देश में नरेंद्र मोदी की हिटलर शाही चल रही है। उन्होंने कहा देश के किसानों को इन कृषि कानूनों की जरूरत नहीं थी। नरेंद्र मोदी ने अपने दोस्तों अंबानी और अडानी को लाभ पहुंचाने के लिए यह तीनों काले कृषि कानून लाकर यह साबित कर दिया कि केंद्र की सरकार का रिमोट अडानी और अंबानी के हाथों में है। जिसके कारण केंद्र सरकार ने सभी सरकारी संस्थानों को अडानी और अंबाती को बेचकर सरकारी संस्थानों का निजी करण करना शुरू कर दिया है। जिससे देश में लगातार बेरोजगारी बढ़ रही है। महंगाई चरम पर है। केंद्र व भाजपा शासित राज्य सरकारें प्रशासनिक सिस्टम पर अपना नियंत्रण खो चुकी है। जिसके परिणाम देश की जनता को भुगतना पड़ रहे हैं। केंद्र सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। कोरोना महामारी में केंद्र सरकार ने देश की जनता को कोरोना महामारी से निपटने के झूठे आश्वासन देकर बिना वैक्सीन, बिना ऑक्सीजन भगवान भरोसे छोड़ दिया जिसका नतीजा यह हुआ लाखों लोगों की मौतें हुई श्मशान में जगह नहीं मिल रही थी, और नाही कब्रिस्तान में जगह नहीं मिल रही थी। हजारों की संख्या में गंगा में शबो के मिलने पर भी सरकार का हिटलर शाही रवैया नहीं बदला।

मुस्तकीम मंसूरी ने कहा देश में चारों तरफ त्राहि-त्राहि मची हुई है। मौतों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में नरेंद्र मोदी ने देश की जनता का ध्यान कोरोना महामारी से हटाने के लिए बाबा रामदेव का इस्तेमाल एलोपैथिक डॉक्टरों के खिलाफ करके सरकार की नाकामियों से जनता का ध्यान हटाने का असफल प्रयास शुरू कर दिया है।

परंतु सरकार को यह बात अच्छी तरीके से समझ लेना चाहिए कि अब देश की जनता समझ गई है। की लाखों मौतों की जिम्मेदार केंद्र सरकार है। अब जब तक केंद्र सरकार नहीं जाएगी किसानों का आंदोलन खत्म नहीं होगा बल्कि सरकार को ही जाना होगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया