उत्तर प्रदेश में कोराना से अब तक हो चुकी है 7 विधायकों की मौत

विजय कश्यप विधायक चरथावल

 लखनऊ विधायक सुरेश श्रीवास्तव

 विधायक चेतन चौहान

 विधायक कमल रानी वरुण

 विधायक रमेश दिवाकर

 विधायक केसर सिंह गंगवार

 विधायक दल बहादुर कोरी

 कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोरोना बीमारी से रोजाना हजारों मौतें हो रही हैं। कोरोना गरीब-अमीर, अनपढ़ पढ़ा लिखा ,जनप्रतिनिधि और मंत्री को भी अपनी चपेट में ले रहा है । कोरोना के कारण लोगों की जान बचाने वाले डॉक्टरों की भी जान जा रही है। कोरोना महामारी उत्तर प्रदेश में विकराल रूप धारण कर चुकी है और ग्रामीण इलाकों में इसका फैलाव हो चुका है। उत्तर प्रदेश के पंचायती चुनाव में शिक्षक संघ के अनुसार 1600 शिक्षकों की कोरोना से मौत हुई।  पंचायत चुनाव जीतने वाले कई प्रधानों की भी मौत हो चुकी है। केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान के भाई जो कुटबी गांव से प्रधानी का चुनाव जीते थे उनकी भी कोरोना से मौत हुई है। अब तक उत्तर प्रदेश के भाजपा के 7 विधायकों की कोरोना से मौत हो चुकी है इनमें पूर्व खिलाड़ी चेतन चौहान  और कमल रानी वरुण की पहली कोरोना लहर में मौत हुई थी।  कोरोना की दूसरी लहर में 23 अप्रैल को लखनऊ पश्चिम से भाजपा के विधायक सुरेश श्रीवास्तव की कोरोना से मौत हुई । 28 अप्रैल को बरेली के नवाबगंज से विधायक केसर सिंह गंगवार की कोरोना से मौत हुई। औरैया के विधायक  रमेश चंद दिवाकर की भी कोरोना से मौत हुई। सलोन से भाजपा विधायक दल बहादुर कोरी की कोरोना से मौत हुई। और 19 मई को चरथावल के विधायक बाढ़ नियंत्रण और राजस्व राज्यमंत्री विजय कश्यप की कोरोना से मौत हो चुकी है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया