वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना हो रहा है ,यूपी में पंचायत चुनाव तुंरत स्थगित किए जाए ,प्रधानमंत्री इस्तीफा दे - सचिन चौधरी

 वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना हो रहा है ,यूपी में पंचायत चुनाव तुंरत स्थगित किए जाए ,प्रधानमंत्री इस्तीफा दे -  सचिन चौधरी



देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों व चरमराती स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर उत्तर प्रदेश कॉंग्रेस कमेटी सचिव व पूर्व लोकसभा प्रत्यासी अमरोहा ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि एक तरफ तो देश में कोरोना महामारी के चलते हर रोज सैंकड़ो लोगो को जान से हाथ धोना पड़ रहा था , वहीं दूसरी तरफ भाजपा सभी नियमो को ताक में रखते हुए चुनाव रैलियों सभाओ के माध्यम से देश में कोरोना फैलाने में जी जान से जुटी हुई है। 

सचिन चौधरी ने कोरोना वैक्सीन पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि ये किस तरह की वैक्सीन लगाई जा रही है जो लगाने के बाद भी लोगो को कोरोना हो रहा है ,लोग जान से हाथ धो रहें है , 

सूबे के मुख्यमंत्री टीवी पर आकर कोरोना पर नियम समझाते है , वही दिनभर उनका सभाओ का दौर चलता है जिसमे कोई नियम नही माना जाता ,

वैक्सीन लेने के बाद भी योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव हुए है , अब खुद को आइसोलेशन में कर लिया है ।

क्या इससे कोरोना व इसपर सरकार की नीयत सही लगती है , 

इससे ऐसा लगता है कि भाजपा सरकार के पास कोरोना से निबटने का कोई योजना नही है वो बस हवा में तीर मार रही है जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है।

प्रधानमंत्री जनता से अपील करते है कि वैक्सीन लगवानी जरूरी है , सरकारी कर्मचारियों को डराकर वैक्सिन लगाई गई है, और उसके बाद भी कोरोना रुक नही रहा है, क्या प्रधानमंत्री बिना जानकारी के कोई भी वैक्सीन लोगो को लगवा रहें है या कोई मानव ट्रायल किया जा रहा देश की जनता के ऊपर।


यूपी में होने जा रहे पंचायत चुनाव को लेकर भी अलग अलग तरह की नियमावली जारी कर रहें है , क्या देश में चुनाव करवाना जनता की जान से भी ज्यादा जरूरी है, क्या चुनाव कुछ समय के लिए स्थगित नही किए जा सकते थे ।

बंगाल में कोई नाइट कर्फ्यू नही , कोई लॉकडाउन नही ,कोई नियम कायदे नही है। 

उत्तर प्रदेश के शमशानों में शवों को जलाने के लिए जगह कम पड़ रही है , एक शव को जलाने के 16 हजार तक लिए जा रहें है , मोदी के आपदा में अवसर फार्मूले को पूरा करने में भाजपा के लोग कहीं भी कसर नही छोड़ रहें।


कोरोना के देश में फैलने की सीधी वजह देश के प्रधानमंत्री है , मैं उनके इस्तीफे की माँग करता हूँ और वैक्सीन को लेकर जनता जवाब चाहती है कि ये जनता को चूहा समझकर कोई ट्रायल चल रहा है जो इसके लेने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहें है , और देश में चल रहे चुनावो को स्थगित किया जाए , देश की जनता की जान से ज्यादा जरूरी कुछ नही है।


कॉंग्रेस नेता ने कहा कि चुनाव आयोग कोरोना की गम्भीरता को समझते हुए उत्तर प्रदेश में होने जा रहे पंचायत चुनावो को स्थगित करे , सभाओ के जरिए तेजी से कोरोना फैल रहा है , भाजपा के नेता तो भीड़ में कोरोना फैलाकर निकल जाते है पीछे जनता को मरने के लिए छोड़ देते है , आज यूपी के कई जिलों में ओपीडी सेवाएँ भी बन्द कर दी गईं है।

जनता के पास स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई विकल्प नही है जिसकी वजह से हर रोज हजारो लोग जान से हाथ धो रहें है, इसलिए इन चुनावों को तुंरत स्थगित किया जाए ,बिना कोरोना नियमो के रैली / सभाएँ करने वाले भाजपा नेताओं पर देशद्रोह और हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए , चाहे वो प्रधानमंत्री हो चाहे मुख्यमंत्री।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग