प्रधानमंत्री इस्तीफा दे:- भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी

 

     प्रधानमंत्री इस्तीफा दे:- भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी 


     

    भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी झारखंड राज्य कार्यकारिणी समिति के सदस्य एवं झारखंड आंदोलनकारी इफ्तेखार महमूद ने केंद्र सरकार पर जोरदार हमला करते हुए कहा है कि कोरोना के इस दूसरी लहर में , लोकतंत्र यदि जीवन्त रुप मे होता,तो केंद्र सरकार कोरोना से निपटने  के लिए संवेदनशील रहती। लेकिन केन्द्र की मोदी सरकार ने पिछले एक वर्ष की अवधि को विपक्ष के निर्वाचित सरकार को गिराने में, नया संसद भवन के लिए सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट बनाने में, सार्वजनिक क्षेत्र की एयरपोर्ट, पेट्रोलियम कम्पनीयो, टेलीकॉम, रेलवे की जमीन इत्यादि संपत्तियों को बेचने  में, किसान और खेती विरोधी कृषि कानून बनाने में,और कोरोना उन्मूलन के लिए ताली थाली बजाने, दिया जलाने और तबलीगी जमात के नाम पर मुसलमानों के खिलाफ घृणा फैलाने में लगाये रखी। 162 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की अप्रैल 2020 में जो घोषणा किया गया था - उसका भी क्रियान्यवयन नहीं किये जाने से केंद्र सरकार का  लोगों के हितों को अनदेखी करने का  चरित्र उजागर हो गया है।

 श्री महमूद ने कहा कि आज जब स्थिति अत्यंत भयावह हो गई है, ऑक्सीजन और अस्पतालों में जगह के अभाव में मौतें हो रही   है।इस संकट की स्थित में अपने को विफल पा कर केंद्र सरकार मृतको और पीडितो का आंकड़ा  छुपाने का काम कर रही है।

                   भाकपा नेता ने कहा कि देशभर के करीब आधे दर्जन उच्च न्यायालयों की केंद्र सरकार के खिलाफ तल्ख टिप्पणियां पुष्टि करती है कि केंद्र सरकार ने महामारी से निपटने के लिए कुछ भी नहीं किया है। श्री इफ्तेखार महमूद ने  प्रधानमंत्री श्री मोदी एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री हर्षवर्धन से, देशहित में, अपना पद छोड़ देने का मांग किया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया