उत्तर पूर्वी जिला द्वारा विभिन्न स्थानों पर होली मंगल मिलन व होली फाग महोत्सव

 उत्तर पूर्वी जिला द्वारा विभिन्न स्थानों पर होली मंगल मिलन व होली फाग महोत्सव



के अवसर पर रंगारंग कार्यक्रम की प्रस्तुति की जा रही है, इसी कड़ी में पूर्वांचल मोर्चा द्वारा भव्य होली मिलन कार्यक्रम जिला कार्यालय यमुना विहार में आयोजित किया गया। जिसकी अध्यक्षता मोर्चा अध्यक्ष अनुपम पांडे ने की इस अवसर पर राज्य सभा सांसद डॉ अशोक वाजपेयी, जिला अध्यक्ष मोहन गोयल की गरिमामयी उपस्थित रही। इस मौके पर सांसद अशोक वाजपेयी ने कहा कि कार्यक्रमों की तारीफ करते हुए कहा कि आज समाज मे त्योहार हमे कुछ न कुछ सिखाते है। भारत मे अनेको त्योहार है, जिससे हम तरह तरह की संस्कृति के बारे में जानते है। अलग अलग रंग बोली बेशभूसा यह सिर्फ भारत मे ही देखने को मिलती है। आज हम अवीर और फूलों की होली मानते है ताकि हमारे पर्यावरण को और हमे कोई हानि न पहुँचे। हमें ये संकल्प भी लेना चाहिए कि रसायनिक और गुब्बारे रहित होली भविष्य में भी मनाएंगे। हितेंद्र त्यागी ने सभी का धन्यवाद करते हुए होली के गीतों के साथ संगीत सुर के साथ फूलों की वर्षा की। की शोभा भव्य झांकियों नृत्य कला और फूलों की वर्षा ने बढ़ा दी।  योगिता सिंह ने कहा झांकियों और रंगारंग कार्यक्रम के बीच मन भाव विभोर हो गया और बच्चों की प्रस्तुति ने नई प्रतिभाओं को जन्म दिया और सुंदर नाटक कार्यक्रम से हम सब ने होली के इतिहास को जाना।   इन कार्यक्रमों का मकसद है अपने इतिहास और संस्कृति को जानना। पूर्वांचल का जब नाम आता है तो श्री राम जी का नाम स्वतः आ जाता है। पूर्वांचल की धरती पर स्वयं भगवान भी विराजे और प्रभु की धरती माना जाता गई। गंगा जमुना तहजीब और प्रेमभाव का संगम पूर्वांचल में देखने को मिलता है। आज हम भारतीय परंपरा के अनुसार त्योहार मानते है। तिलक कर सभी का स्वागत करना इससे एक दूसरे का सम्मान बढ़ता है। जिला अध्यक्ष मोहन गोयल ने कहा कि आज एक एक कर सभी ने गीत गाकर सभी को होली की शुभकामनाएं दी। और बताया कि होली के रंग अपने आप में अद्भुत होते हैं होली का रंग जब किसी को लगता है तो सामने से सभी एक समान नजर आते हैं। आज दिल्ली में पूर्वांचल के बड़ा समाज है। ईमानदारी से मेहनत से आज पूर्वांचल के व्यक्ति हर व्यवसाय से लेकर बड़े आधिकारिक पदों से लेकर राजनीतिक गलियारों तक है। होली के अवसर पर पूर्वांचल की परंपरा का एक विशेष महत्व है। आज की पीढ़ी को हमारी संस्कृति के बारे में पता होना चाहिए। एक दूसरे के सुख दुख में हम तभी सामिल हो पाते है जब हमारे पास मानवता के गुण हो। मीडिया प्रवक्ता दीपक चौहान ने कहा कि कार्यक्रम से हम भाईचारे की समीपता को बढ़ाते है। आज कवियों के माध्यम से हम अपनी तहजीब और सांस्कृतिक विरासत को उनकी लिखी कविताओं के द्वारा जीवन्त रखे हुए है। अपनी कविताओं के जरिये कवि हमें हमारे इतिहास का बोध कराते हैं। होली ऐसा त्योहार है जब हर व्यक्ति गिले शिकवे भूलकर हर्षित होता है और एक दूसरे के गले लग बुराई और दूरियों को खत्म करता है। इतिहास में श्री हरि के भक्त प्रहलाद और हिरण्यकश्यप के बारे में बताते हुए कहा कि बुराई कितनी भी बड़ी क्यों न हो जीत अच्छाई की ही होती है। अनुपम पांडे ने इसी के साथ समारोह में उपस्थित सभी का धन्यवाद भी किया व सबको बधाई और शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में  जिला महामंत्री डॉ यू के चौधरी, उपाध्यक्ष राजेन्द्र अग्रवाल,सचिन मावी, अक्षय पुरोहित, मीडिया प्रवक्ता दीपक चौहान, मंत्री गंगाधर शर्मा, जिला मोर्चो के अध्यक्ष सारिका गुप्ता, मोहम्मद जावेद, व संजीव मिश्रा,सोनू पाठक,आदित्य प्रताप सिंह, सिंटू दृवेदी, शेलेन्द्र मिश्रा, राजकमल पटेल,दीपक सिन्हा, पंकज गिरी, और गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग