मेरा सफर बलजोर सिंह की जीवनी पर आधारित किताब युवाओं के लिए प्रेरणादायी


 उत्तर पूर्वी दिल्ली के गोकलपुर विधानसभा क्षेत्र से 2003 में दिल्ली विधानसभा के सदस्य बनने वाले बलजोर सिंह का जीवन परिचय  किसी का मोहताज नहीं है। मुजफ्फरनगर से  पश्चिम में 40 किलोमीटर दूर एक गांव राजपुर छाजपुर गढी मे जन्म लेने वाले बलजोर सिंह दिल्ली में शिक्षक बने और  प्रिंसिपल बने और फिर विधायक बने और और यमुना विहार सी 12 दिल्ली में अपना स्कूल भी स्थापित किया। शिक्षा के लिए इतना कार्य करने वाले और बलजोर सिंह ने अपनी जिंदगी के बारे में एक किताब जिसका नाम "मेरा सफर" लिखी उस किताब में अपनी जिंदगी के शुरुआती दिनों से लेकर दिल्ली का विधायक बनने तक और उसके बाद शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने तक का जो वृतांत मिलता है  वह आने वाली पीढ़ी के लिए काफी प्रेरणादायी होगा। संघर्षशील  श्री बलजोर सिंह के जीवन पर आधारित इस किताब "मेरा सफर" के संपादक एमएस गौतम ने काफी मेहनत की है और उनके जीवन से संबंधित जानकारी रखने वाले और उनके मित्रों के विचार भी इस किताब में प्रकाशित किए हैं। श्री बलजोर सिंह के बारे में एस ए बेताब के विचार किताब के पेज नंबर 76 और 77 पर प्रकाशित किये गये है।यह किताब  संघर्षशील ग्रामीण पृष्ठभूमि से आने वाले और शहरी पृष्ठभूमि में संघर्ष करने वाले आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को का पथ प्रदर्शित करने वाली साबित होगी।

समीक्षा:एस ए बेताब  

संपादक

 बेताब समाचार एक्सप्रेस

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग