बरेली, क़ुरआन ए पाक की 26 आयतों को क़ुरआन ए पाक से हटाए जाने की मांग को लेकर वसीम रिजवी ने सुप्रीम कोर्ट में एक पीआईएल दाखिल की है



 बरेली, क़ुरआन ए पाक की 26 आयतों को क़ुरआन ए पाक से हटाए जाने की मांग को लेकर वसीम रिजवी ने सुप्रीम कोर्ट में एक पीआईएल दाखिल की है। जिसको लेकर पूरे देश के मुसलमानों में वसीम रिजवी के खिलाफ जबरदस्त आक्रोश पैदा हो गया है। वसीम रिजवी के खिलाफ जहां देशभर में लोग उसको नोटिस भेज रहे हैं उसके खिलाफ अदालतों में मुकदमे दायर किए जा रहे हैं धरने प्रदर्शन व जुलूस निकाले जा रहे हैं पूरे देश ही नहीं पूरी दुनिया के मुसलमान वसीम रिजवी की इस हरकत से गुस्से में है। इसी सिलसिले में आज उत्तर प्रदेश के शहर बरेली शरीफ से रजा एक्शन कमेटी के सदर अदनान रजा खान कादरी की कयादत में ऐतिहासिक जुलूस उनके निवास स्थान ख्वाजा कुतुब से शुरू होकर जिला मुख्यालय कचहरी पर पहुंचा और नगर मजिस्ट्रेट की जानिब से प्रधानमंत्री को वसीम रिजवी की घिनौनी हरकत पर उसके खिलाफ देश का माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने पर गिरफ्तार कर रासुका लगाने की मांग की गई है। यहां यह बताना बहुत जरूरी है धर्मनिरपेक्षता का दावा भरने वाले तमाम सियासी दल हर मसले पर जुलूस धरना प्रदर्शन और बयानबाजी करते हैं परंतु आज जब मुसलमानों के धार्मिक ग्रंथ पर उंगली उठाई गई तो उनकी खामोशी इस बात का सबूत देती है कि यह राजनीतिक दल मुसलमानों का वोट तो चाहते हैं परंतु उनके मसलों पर इसलिए खुलकर नहीं बोलते हैं कहीं उनका हिंदू वोट उनसे नाराज ना हो जाए इस मसले पर अब मुसलमानों को और करना होगा कि आखिर वह उनको वोट क्यों दें।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग