भाजपा मुख्यमंत्री का चेहरा बदलकर उत्तराखंड की जनता को संतुष्ट नहीं कर पाएगी।


 उत्तराखंड बनने के बाद भाजपा और कांग्रेस में एक समझौते के तहत सत्ता का आदान-प्रदान होता रहा है-मुस्तकीम मंसूरी


बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए वीरेंद्र सिंह बिष्ट की रिपोर्ट।


भाजपा मुख्यमंत्री का चेहरा बदलकर उत्तराखंड की जनता को संतुष्ट नहीं कर पाएगी।


उत्तराखंड की जनता भाजपा और कांग्रेस से त्रस्त होकर तीसरा विकल्प तलाश कर रही है।


लखनऊ 10 मार्च ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के राष्ट्रीय महासचिव उत्तराखंड प्रभारी मुस्तकीम मंसूरी ने आज पार्टी की ओर से जारी एक बयान में कहा कि उत्तराखंड में भाजपा की सरकार सभी मोर्चों पर विफल साबित हुई है। भाजपा ने अपनी सरकार की विफलताओं को छुपाने के लिए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की जगह तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बना कर यह स्वीकार कर लिया कि उनका 4 साल के कार्यकाल में उत्तराखंड में विकास की जगह विनाश हुआ है। जिसके कारण उत्तराखंड की जनता में भाजपा के प्रति आक्रोश तेजी से बढ़ रहा है। यही कारण है कि भाजपा को उत्तराखंड में मुख्यममंत्री बदल कर उनके द्वारा 4 साल किए गए भ्रष्टाचार पर भी पर्दा पड़ जाएगा और प्रदेश की जनता का ध्यान भाजपा के भ्रष्टाचार और महंगाई पर से हट जाएगा। उत्तराखंड प्रभारी मुस्तकीम मंसूरी ने कहा प्रदेश की जनता को मुख्यमंत्री बदल कर संतुष्ट नहीं किया जा सकता। बल्कि प्रदेश की जनता भाजपा की सत्ता को बदलकर ही संतुष्ट होगी। उन्होंने कहा उत्तराखंड की जनता दिल्ली से चलने वाली सरकार से संतुष्ट नहीं है। और वह परिवर्तन चाहती है। जिसके परिणाम 2022 में जनता द्वारा दिए जाएंगे। मुस्तकीम मंसूरी ने कहा उत्तराखंड बनने के बाद भाजपा और कांग्रेस में एक समझौते के तहत सत्ता का आदान-प्रदान होता रहा है। जिसके कारण उत्तराखंड में जहां विकास बाधित हुआ है। वही बेरोजगारी और भ्रष्टाचार तेजी से बढ़ा है। परंतु 2022 के चुनाव में उत्तराखंड की जनता भाजपा और कांग्रेस से त्रस्त होकर तीसरे विकल्प की तलाश कर रही है। जो इस बार के चुनाव में जनता को अवश्य मिलेगा। इसके लिए उत्तराखंड के क्षेत्रीय दलों सहित सपा और बसपा से मुस्लिम मजलिस का केंद्रीय नेतृत्व लगातार संपर्क कर रहा है। और उत्तराखंड को कांग्रेस और भाजपा से मुक्ति दिला कर प्रदेश में तीसरे मोर्चे की सरकार बनाने के लिए प्रयास लगातार जारी है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग