तौकीर रजा खान ने कहा भाजपा कार्यकर्ताओं की तरह हो रहा है पुलिस का इस्तेमाल।

 मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट
 मौलाना तौकीर रजा़


 एक बार फिर गिरफ्तारी का ऐलान करने के बाद पीछे हटे मौलाना तौकीर रजा खान।


तौकीर रजा खान ने कहा भाजपा कार्यकर्ताओं की तरह हो रहा है पुलिस का इस्तेमाल।


बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट।


दो दिन पहले आईएमसी के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रज़ा खा ने रामपुर की दरगाह हाफिज़ शाह जमाल के सज्जादानशीन फरहत अहमद जमाली की गिफ्तारी होने के विरोध मे आज सोमवार को अपनी गिफ्तारी देने का ऐलान किया था।

और साथ ही अपील भी की थीं सज्जादानशीन की गिफ्तारी किये जाने के विरोध में सभी दरगाहो व खानकाहों से, जिसपर मौलाना तौकीर रज़ा की अपील से आज धर्मिक भावनाओं मे बहकर सैकड़ों लोग दरगाह आला हजरत पर इकट्ठे हो गये।

जिसको देखकर पुलिस महकमे मे खलबली मच गई और पुलिस ने दरगाह आला हजरत से बिहारीपुर क्षेत्रों को छावनी मैं तब्दील दिया।

 कुछ ही समय बाद आईएमसी अध्यक्ष मौलाना तौकीर रज़ा खा अपनी निति के मुताबिक बैकफूट पर आ गए। 

और तौकीर की अपील पर जो लोग अपने काम काज छोड़कर आऐ थे। उनको समझाकर वापस कर दिया इससे पहले भी एनआरसी के विरोध में गिरफ्तारी का ऐलान करके तमाम मुसलमानों को इकट्ठा किया। और प्रशासन को इकट्ठी भीड़ दिखाकर फिर लोगों से वापस घर जाने की अपील की गई थी। इस तरह हर बार जज्बाती मुसलमानों को इकट्ठा करना और प्रशासन को अपनी हनक दिखाकर अपनी गिरफ्तारी को स्थगित कर देना यह  तौकीर रजा की कोई नई बात नहीं पुरानी परंपरा रही है।

आपको बताते चलें कि पूरा मामला क्या है। मोदी सरकार ने देश की जनता पर तानाशाही के बल पर एक कानून नागरिकता संशोधन का नाम दिया था।

 जिसपर देश मे ही नहीं विदेशों में भी मोदी सरकार का विरोध हुआ था। उस समय देश की जनता पर सैकड़ों मुकदमे दर्ज किये गये थे। जिसमे बकोल आईएमसी अध्यक्ष मौलाना तौकीर रज़ा खा के पुलिस को अपने कार्याकर्ताओं की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है।

उस समय भी पुलिस ने सरकार के दबाओ मे नागरिकता संशोधन का विरोध करने वाले देश के नागरिकों पर सैकड़ों मुकदमे दर्ज किये थे।

जिसके चलते यूपी के जनपद रामपुर मे भी पुलिस ने संगीन धाराओं में मुकदमे दर्ज कर लिये थे।

जिसपर रामपुर पुलिस ने सज्जादानशीन फरहत अहमद जमाली की गिफ्तारी कर जेल भेज दिया था।

 उस परआईएमसी अध्यक्ष मौलाना तौकीर रज़ा खा ने विरोध प्रदर्शन करने के लिए अपनी गिफ्तारी देने का ऐलान कर शहर मे अफरातफरी का माहौल बना दिया। फिर बैकफूट पर आते हुये अपनी पीठ थपथपाते हुये। अगली तारीख का ऐलान भी कर दिया

क्या मौलाना गिरफ्तारी देंगे या फिर पिछली परंपरा को आगे बढ़ाते हुए गिरफ्तारी की अगली तारीख का ऐलान करेंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग