जनपद बरेली की तहसील मीरगंज के गांव की चुराई दलपतपुर में आयोजित एक किसान चौपाल को संबोधित करने पहुंचे।




 बरेली 18 फरवरी उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विधायक श्री अजय कुमार लल्लू जय जवान जय किसान किसान चौपाल यात्रा के तहत आज जनपद बरेली की तहसील मीरगंज के गांव की चुराई दलपतपुर में आयोजित एक किसान चौपाल को संबोधित करने पहुंचे। किसान चौपाल का नजारा देख कर ऐसा लग रहा था। जैसे उत्तर प्रदेश की महासचिव प्रियंका गांधी के द्वारा जारी किसान चौपाल कम किसी फिल्म की शूटिंग अधिक दिखाई थी। सभा स्थल पर देखा गया किसानों की समस्याओं पर कांग्रेस जनों की नजर कम प्रदेश अध्यक्ष के साथ सेल्फी लेने पर ज्यादा थी। आज के ऐसे ही नजारे को हमारे संवाददाता ने अपने कैमरे पर कैद किया है। जिसको देखकर अब यह एहसास होने लगा है। उत्तर प्रदेश के अंदर 2022 मैं वापसी को कांग्रेस ने जो सपना देखा है। शायद अभी 22 साल कांग्रेस की वापसी में और लग जाएंगे। यहां बताते चलें 50 साल से ऊपर सत्ता में रहने वाली कांग्रेस का कल्चर अभी भी नहीं बदला है। उनके नेता कार्यकर्ताओं के फर्जी आंकड़ों पर भरोसा करके प्रियंका गांधी को भी गुमराह करने में लगे हुए हैं। यहां यह बताना भी जरूरी है। उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य में जहां भाजपा सपा और बसपा कांग्रेस के परंपरागत वोट पर कब्जा कर चुके हैं। उस वोट को वापसी के लिए  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव उत्तर प्रदेश प्रभारी श्रीमती प्रियंका वाड्रा लगातार जनता के बीच काम करने का प्रयास कर रहे हैं। और जनता को प्रभावित भी करने की कोशिशों में लगे हुए हैं। परंतु जिला स्तर के नेता अपने नेताओं की गाइड लाइन के अनुसार काम ना करके इस तरह हनक में रहते हैं। जिस तरह कांग्रेस की सत्ता में यह लोग हनक में रहते थे। जिला स्तरीय कांग्रेस नेताओं का बरेली में तो हाल यह है। 4 लोगों के बीच बैठकर 40 लोगों की खबर अखबारों में छपवा कर प्रदेश और राष्ट्रीय नेतृत्व को गुमराह करते हैं। जब भी कोई प्रदेश स्तर या राष्ट्रीय स्तर के नेता का आगमन बरेली जनपद में होता है। तो कांग्रेस की गुटबाजी और कांग्रेस नेताओं की रंगीन मिजाजी किसी से छुप नहीं पाती। क्या इसी तरह मिशन 2022 कांग्रेस का सफल होगा? यहां बताते चलें जिस तरह कांग्रेस नेतृत्व लगातार अनुभवहीन युवाओं पर दांव खेल रही है। उससे तो उत्तर प्रदेश की सत्ता में  या सत्ता की भागीदारी में कांग्रेस का सपना कभी पूरा नहीं होगा। एक जमाना था। जब कांग्रेस सेवादल कांग्रेस में हुआ करता था। और राजीव गांधी से लेकर बड़े-बड़े नेता कांग्रेस सेवादल कैंप में ट्रेनिंग लेकर जनता के बीच जाकर जनता को जोड़ने मे लगे रहते थे। आज वह स्थिति दूर दूर तक नजर नहीं आती। कांग्रेस जब तक जमीनी सतह पर जनता के बीच काम नहीं करेगी। तब तक कांग्रेस सत्ता तो दूर उत्तर प्रदेश की सत्ता में भागीदार भी नहीं बन पाएगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग