मेरठ में 517 शस्त्र लाइसेंस धारकों को नोटिस जारी किए गए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जिन लोगों ने नागरिकता अधिनियम के खिलाफ हिंसक विरोध प्रदर्शन के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है, वे नुकसान का भुगतान करेंगे। रामपुर प्रशासन ने वैंडल (Vandals) पहचान शुरू कर दी है और 28 लोगों को नोटिस भेजे हैं। मेरठ में 517 शस्त्र लाइसेंस धारकों को नोटिस भी जारी किए गए हैं। कानपुर के डीएम आंजनेय कुमार सिंह ने कहा है कि जो लोग 21 दिसंबर को सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने में शामिल थे, उनकी पहचान सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से की गई है और उनके नाम पुलिस को भेजे गए हैं। नुकसान का आकलन किया गया है और 28 को नोटिस जारी किए गए हैं। जिन लोगों की पहचान की गई है उनके खिलाफ आगं की कार्रवाई की जाएगी। अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि रामपुर प्रशासन ने पिछले सप्ताह नागरिकता कानून के विरोध के दौरान 28 लोगों को हिंसा के लिए पहचाना और नोटिस जारी किया है। एक समाचार एजेंसी के मुताबिक पुलिस और प्रशासन द्वारा जिले भर में लगभग 25 लाख रुपये के नुकसान का आकलन किए जाने के बाद मंगलवार को नोटिस जारी किए गए हैं। पुलिस ने शुरुआती जांच में नुकसान की कीमत लगभग 15 लाख रुपये आंकी थी। लेकिन अंतिम आकलन में यह आंकड़ा 25 लाख रुपये था। इस बीच, मेरठ के डीएम अनिल ढींगरा ने कहा है कि 517 शस्त्र लाइसेंस धारकों को नोटिस जारी किए गए हैं। एफआईआर में 148 लोगों को विरोध प्रदर्शन के दौरान हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए नामांकित किया गया है। इसके अलावा, इन 517 में से 400 शस्त्र लाइसेंस अपडेट के लिए लंबित थे, फिलहाल उन्हें रोक दिया गया है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत