प्रतिबंधित व नकली दवाइयों के कारोबारी, अवैध अस्पतालों के संचालक पत्रकारों पर क्यों लिखाते हैं रंगदारी के मुकदमे?

रिपोर्ट-नाजिश अली

बरेली, पत्रकार सुरक्षा महा समिति के बरेली मंडल के अध्यक्ष रईस खांन ने कहा कि प्रतिबंध व नकली दवाइयां के कारोबारी और अवैध अस्पतालों के संचालक स्वास्थ्य विभाग की मिली भगत से स्वास्थ्य सुरक्षा नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए आम जनमानस के साथ किस तरह का खिलवाड़ करते हैं, यह किसी से छिपा नहीं है। उन्होंने कहा काफी समय से किला मेडिकल हाल पर प्रतिबंध दवाओं के बिकने की खबरें प्रकाशित होने पर किला मेडिकल के संचालक द्वारा कुछ पत्रकारों पर पुलिस


प्रशासन को गुमराह करके पत्रकारों पर दबाव बनाने के लिए मुकदमा लिखवाया गया था। जबकि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के संज्ञान में प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री और अवैध अस्पतालों के संचालन का खबरों के माध्यम से पहुंचता रहा है। परंतु स्वास्थ्य विभाग के मुखिया की आंखों के तारे एक अधिकारीपूरे जिले की जानकारी रखते हैं, परंतु इसके बावजूद मामला निपटने में यकीन रखते हैं। वही कल पुलिस उपाधीक्षक एएनटीएफ यूनिट बरेली के पर्यवेक्षण में औषधि विभाग बरेली एवं थाना सी बी गंज की संयुक्त टीम द्वारा प्रतिबंधित दवाइयां किला मेडिकल हाल और उसके गोदाम से बड़ी मात्रा में बरामद की गये जाना इस बात का प्रमाण है की किला मेडिकल हाल का संचालक प्रतिबंधित दवाइयां का कोई छोटा कारोबारी नहीं बल्कि बहुत बड़ा नशीली प्रतिबंधित दवाइयां का कारोबारी है। जिसके तार जहां स्वास्थ्य विभाग में मजबूती से जुड़े हैं वहीं अन्य जिलों में भी इसका कारोबार फल-फूल रहा होगा इसमें कोई शक नहीं होना चाहिए। आपको बताते चलें अप्रैल 2023 में कुछ अखबारों और सोशल मीडिया पर प्रतिबंध दवाई किला मेडिकल हाल पर बेचे जाने की खबरें चली थी। परंतु स्वास्थ्य विभाग ने अब तक प्रतिबंधित दमन की बिक्री पर कोई संज्ञान नहीं लिया। बल्कि उल्टा किला मेडिकल हाल के मालिक ने खबर चलाने वाले पत्रकारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा कर अन्य पत्रकारों पर भी दबाव बना लिया  था। परंतु कल बड़ी मात्रा में किला मेडिकल हाल और उसके गोदाम से बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित दवाइयां का बरामद होना इस बात का सबूत है कि जिन पत्रकारों ने किला मेडिकल हाल पर प्रतिबंध दावों की बिक्री की खबरें चलाई थी वह सही थी। और पत्रकारों पर दबाव बनाने के लिए अधिकारियों को गुमराह करके फर्जी मुकदमा कायम कराया गया था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना