भाजपा के साढ़े नौ वर्षों के केंद्रीय शासन में रुपए का आकार सिकुड़ कर लगभग 10 पैसे के बराबर रह गया है, मीना शाक्य

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी रिपोर्ट, 

बरेली, समाजवादी महिला सभा की प्रदेश सचिव मीना शाक्य ने  योगी सरकार द्वारा पेश किए गए बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इस बजट को हर बार की तरह अब तक के सबसे बड़े आकार वाला बताया जा रहा है, पर इसके आकार का आंकड़ा इसलिए बड़ा दिख रहा है कि भाजपा के साढ़े नौ वर्षों के केंद्रीय शासन में रुपए का आकार सिकुड़ कर लगभग 10 पैसे के बराबर रह गया है।


अनेक झूठों और बड़बोलेपन से लथपथ आंकड़े भी यह नहीं छिपा सके हैं कि बजट महंगाई ग़रीबी बेरोज़गारी स्वास्थ्य एवं अशिक्षा जैसी भयावह समस्याओं के निराकरण में एकदम बोगस है। सच तो यह है कि बजट ग़रीबी को और भी बढ़ाने वाला है तथा अमीरों को और भी मालामाल करेगा।

विकास, और सामाजिक कल्याण की अनेक योजनाएँ भयावह भ्रष्टाचार में डूबी हैं। इसका ताजातरीन उदाहरण यह है कि उत्तर प्रदेश के तमाम लोग ठंड से सिकुड़ कर ईश्वर को प्यारे हो गए और सरकार ने जनवरी मध्य तक अलाव जलाने पर रुपये 53 करोड़ का खर्च दिखाया है । 

सरकार ने भ्रष्टाचार, महिला उत्पीड़न एवं कमजोर वर्ग की सुरक्षा का खाका भी प्रस्तुत नहीं किया, जबकि जन मानस में भय फैलाने को की जा रही बुलडोज़री कार्यवाहियों पर बेशुमार धन खर्च किया जा रहा है।

वोट और सत्ता के लिये धर्म की आड़ में खेले जारहे खेल को और तेजी से आगे बढ़ाने के लिये तमाम राशि आवंटित की है,जबकि आधुनिक भारत का उन्नयन रोजगार के मंदिरों (उद्योग, कल कारखानों और आधारभूत ढांचे) के निर्माण की उपेक्षा की गई है। 

आज़ादी के बाद यह पहला बजट है जो ग़रीब और आम लोगों को नहीं, अपितु राम को समर्पित किया गया है। वित्तमंत्री द्वारा बजट पुस्तिका को घरेलू पूजाग्रह में इष्ट देवताओं के समक्ष पहले प्रस्तुत कर यह साबित कर दिया है कि जनता को आगे भी “राम भरोसे” ही जीवन जीना है। यह राजनैतिक उद्देश्यों के लिये आस्था के लालचपूर्ण दोहन का भयंकर उदाहरण है।

बड़ा होने का ढिंढोरा पीटे जाने वाले सात लाख छत्तीस हज़ार करोड़ रुपये के इस प्रस्तावित बजट पर यह पंक्ति पूरी तरह लागू होती है-

बड़ा हुआ तो क्या हुआ जैसे पेड़ खजूर।

पंथी को छाया नहीं फल लागे अति दूर॥

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश