किसानों के लिए भाजपा सरकार ने कुछ नहीं किया, बकाया गन्ना भुगतान व मूल्यवृद्धि नहीं हो रही: जयंत चौधरी

 मुजफ्फरनगर। शाहपुर क्षेत्र के गांव काकड़ा निवासी एशियन गेम्स में रजत पदक विजेता रोइंग खिलाड़ी पुनीत बालियान के सम्मान में आयोजीत समारोह में पहुँचे रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने पदक विजेता पुनीत बालियान को शाल ओढाकर व प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया।

जयंत चौधरी पुनीत बालियान के घर पँहुचे व पुनीत की माँ व पिता को शुभकामनाएं देते हुए उन्हें शाल ओढाकर सम्मानित किया। रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने कहा कि इस गांव के होनहार खिलाड़ी सीमित साधनों के चलते खेल जगत में नाम रोशन कर रहे है।


उन्होंने पुनीत की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि इस बच्चे ने सीमित साधनों के चलते पहले सेना में नौकरी हासिल की व सेना के अधिकारियों के सहयोग के चलते रोइंग गेम्स में अनेक पदक हासिल कर सेना व गांव का नाम रोशन किया।साथ ही उन्होंने सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि सरकार इन खिलाड़ियों को कोई सहयोग नही कर रही है। उन्होंने पुनीत के घर वालो की ओर से दिए गए गुड़ की तारीफ की। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि गांव के जिम्मेदार सलाह मशविरा करके उन्हें जगह बता दे वे अपनी सांसद निधि से 40 लाख व क्षेत्रीय विधायक राजपाल बालियान की विधायक निधि से 30 लाख से गांव में एक स्टेडियम बनवाएंगे। स्टेडियम बनने से गांव व आसपास के गांव के युवाओं को खेल में आगे बढ़ने में मदद मिलेगी।बुढाना विधायक राजपाल बालियान ने कहा कि रालोद प्रमुख जयंत चौधरी गांव दर गांव स्टेडियम बनवाने में लगे हुए अभी हाल ही में जयंत चौधरी ने सावटु गांव में अपनी सांसद निधि से स्टेडियम बनवाया है। वे ओर जयंत चौधरी अपनी अपनी निधि से काकड़ा गांव में भी स्टेडियम बनवाएंगे।

पूर्व मंत्री योगराज सिंह ने कहा कि गांव काकड़ा के युवाओं ने खेल के क्षेत्र में अलग मुकाम हासिल कर गांव, क्षेत्र ,जनपद का गौरव बढ़ाया है।गांव के लगभग 40 युवाओं ने अपनी मेहनत के दम पर खेलो के माध्यम से सरकारी नोकरी हासिल की है। उन्होंने आगे कहा कि गूंगे बहरे की सरकार है, इसे किसानों का दुख दर्द दिखाई नहीं देता है। पिछले नौ साल से गन्ने का कोई भाव नहीं बढ़ा है। प्रदेश में मेरे मंत्री रहते तीन बार 40-40 रूपये बढ़े थे, इस हिसाब से गन्ने का आज का भाव सरकार को 1100 रूपये प्रति कुंतल के हिसाब से किसानों की भलाई में तय कर देना चाहिए।

किसानों से अपील करते हुए कहा कि अगर सरकार किसानों को गन्ने का भाव नही देती है तो ऐसी सरकार का बहिष्कार करते हुए इसे जड़ से उखाड़ फेंकना चाहिए। सभा की अध्यक्षता जगवीर सिंह व संचालन पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष तिरसपाल मलिक ने किया ।

सभा को विधायक राजपाल बालियान,पूर्व मंत्री योगराज सिंह,पूर्व मंत्री धर्मवीर बालियान,प्रसन्न चौधरी विधायक शामली,बिजेंद्र मलिक,अनुपमा चौधरी, मोमिन जोला सदस्य जिला पंचायत,अंकित बालियान, मनीषा अहलावत,जिला पंचायत युनुस चौधरी, अनिल विधायक कुमार, कृष्णपाल राठी, चंदन चौहान विधायक, अशरफ अली खान विधायक, रमेश काकडा, विनोद प्रमुख, बालकिशोर त्यागी आदि ने भी संबोधित किया।दीपक प्रधान, अनुज बालियान, सुनील रोहटा, जितेन्द्र सोरम,रविन्द्र राठी,अरुण कुमार, कल्लू प्रधान,योगेंद्र सिंह,अजय बावला,सुनीता, कविता सहित सैकड़ो लोग मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश