जो व्यक्ति मजलूम गैर मुस्लिम समुदाय से इंसानियत न रखता हो वो इस्लाम मजहब का नहीं - महमूद प्राचा


मेरठ:-मुस्लिम व्यक्ति मजलूम गैर मुस्लिम समुदाय या मुस्लिम पसमांदा मजलूमों से इंसानियत न रखता हो वो इस्लाम मजहब का नहीं।

भारतीय पसमांदा मुस्लिम महासभा का एक कार्यक्रम फ्लोरेंस इंटरनेशनल एकेडमी डा जाकिर हुसैन कॉलोनी और डा फारुख हुसैन के आवास पर  मिसन सेव कांस्टीट्यूशन के संस्थापक एडवोकेट मा महमूद प्राचा की अध्यक्षता में भारतीय पसमांदा मुस्लिम महासभा के प्रदेश प्रभारी/अध्यक्ष के संयोजन में संपन्न हुआ।


राजुद्दीन गादरे ने कहा कि आज मानवता के दुश्मन षड्यंत्रकारी लोगों की वजह से फिलीस्तीन के मूल निवासियों को उनके घर में आसरा लेने वाले लोगों ने जानवरों से भी बद्तर वहसी दरिंदों से भी ज्यादा हमलें कर मासूम बच्चों को बूढों को महिलाओं को हस्पतालों में बमबारी करके साबित कर दिया कि जिस थाली में खाया उसी में छेद कर रहे हैं। जिसने आसरा दिया उसी को काट रहे हैं। ऐसा ही हाल हमारे भारत देश में भी मूल निवासियों पर आये दिन अत्याचार हो रहे हैं। मुस्लिम सिख ईसाई जैन लिंगायत बौद्ध आदि जो मूल निवासी हैं 87% के लोगों को हिंदू मुस्लिम का षड्यंत्र रचकर आपस में लड़वाया जा रहा है।

सुप्रीम कोर्ट लॉयर माननीय महमूद प्राचा ने अपने वक्तव्य में कहा कि मुस्लिम समुदाय के लोग इस्लाम मजहब के मूल भूत बातों पर अमल नहीं कर रहे हैं। आज मुस्लिम समाज की जो हालात भारत के अनुवादी विचारधारा के लोगों ने आपस में बेर रखवा कर कर रखी है इस्लाम मजहब में हर मजलूम चाहे वह मुस्लिम हो या गैर मुस्लिम हो उसके साथ खड़ा होना आया है और यदि कोई मुस्लिम समाज हो या गैर मुस्लिम समाज के पसमांदा मजलूम लोगों के साथ हमदर्दी नहीं रखता उनके दुख दर्द में साथ खड़ा नहीं होता अपनी परेशानी से पहले अन्य लोगों के साथ अच्छे आभार और रख लायक नहीं पेश करता तो वह इस्लाम मजहब का व्यक्ति हो ही नहीं सकता इसलिए हमें चाहिए कि अपनी परेशानी से पहले हम दूसरे लोगों की परेशानियों को हल करने में मदद करें। कार्यक्रम का संचालन मुफ्ती मोहम्मद उमेर कासमी सैफी ने किया कार्यक्रम में एडवोकेट सुरेश गौतम एडवोकेट आवेश अहमद एडवोकेट मनजीत सिंह एडवोकेट सोहेल खान मौलाना शाहनवाज डॉक्टर इरशाद अली सोशल एक्टिविस्ट आजाद सैफी हाजी नूर मोहम्मद मोहम्मद इश्तियाक आस मोहम्मद मनजीत लोहार जितेंद्र सिद्धार्थ अमित पाल साहबुउद्दीन इकरामुद्दीन महबूब अली ठेकेदार, कारी साबिर कारी आदिल मुफ्ती मुरसलीन कारी खालिद कारी आबिद मौलाना आजिम मौलाना तंजीम मौलाना आलम एड रियासत अली डा माजिद डा फारुख हुसैन एच जे एफ तंजीम फातिमा एजुकेशन सोशल वैलफेयर सोसाइटी एड मेहरबान संजय बौद्ध रईस अहमद अंसारी आदि सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश