धामी की मित्र पुलिस की मित्रता देखिए, लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पत्रकार के साथ अभद्रता,

 रिपोर्ट-वीरेंद्र बिष्ट

पत्रकार सुरक्षा महासमिति की आपात बैठक में उत्तराखंड के दशहरा मेला में दरोगा द्वारा पत्रकार से की गई अभद्रता की निंदा की गई।

उत्तराखंड में कल धूमधाम से दशहरा का पर्व मनाया गया, परेड ग्राउंड में भारी भीड़ होने के चलते भारी पुलिस बल भी तैनात किया गया। इसी बीच एक पुलिसकर्मी का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें एक पुलिसकर्मी वरिष्ठ पत्रकार के साथ अभद्रता करता हुआ साफ नजर आ रहा है।


दरअसल दशहरे मेले के दौरान कवरेज के लिए जा रहे पत्रकार से दरोगा हर्ष अरोरा ने धक्का मुक्की कर दी जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। पत्रकार द्वारा दरोगा को अपना परिचय देने के बावजूद भी दरोगा नहीं माना और धक्का मुक्की करता रहा, इस बीच इंस्पेक्टर डालनवाला राजेश शाह ने समय पर पहुंच दरोगा को समझाया। अब यहां सवाल यह उठता है की पत्रकार जो पूरे समाज की आवाज उठाते हैं, उनके साथ उत्तराखंड की धामी पुलिस द्वारा अभद्रता का यह कोई पहला मामला नहीं है।

लगातार इस तरह के मामले सा


मने आते ही रहते हैं, लेकिन जैसे कल एक वरिष्ठ पत्रकार के साथ अभद्रता मामले में खानापूर्ति करते हुए दरोगा को मात्र लाइन हाजिर कर दिया गया ऐसे ही हर मामले में पुलिस के उच्च अधिकारियों द्वारा मात्र खानापूर्ति की जाती है। बड़ा सवाल यह है की क्या मात्र लाइन हाजिर करके ही मामले को सुलटा दिया जाएगा, या फिर निलंबन की भी कार्रवाई होगी। आखिर तक पुलिस अधिकारी पत्रकारों के साथ इस तरह की अभद्रता करना बंद करेंगे यह भी अपने आप में एक बड़ा सवाल है। इस पूरे मामले को लेकर पत्रकार संगठन डीजीपी से मिला है और इस मामले में कार्रवाई करने की मांग की है। वही आज पत्रकार सुरक्षा महासमिति के बरेली मंडल के अध्यक्ष मोहम्मद रईस ने एक आपात बैठक कर उत्तराखंड पुलिस द्वारा दशहरा मेला में पत्रकार के साथ की गई अभद्रता की निंदा करते हुए कहा कि पत्रकार सुरक्षा महा समिति का एक शिष्टमंडल शीघ्र उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और उत्तराखंड के राज्यपाल से मुलाकात कर निरंकुश दरोगा के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*