नाबालिग लड़की भगाने के मामले में एसएसपी के आदेश पर मुकदमा दर्ज तीन नामजद आरोपियों के विरुद्ध हुआ मुकदमा दर्ज,

 कुम्हावर चौकी के दो सिपाहियों की भूमिका संदिग्ध, आरोपियों की दूसरी बार की मदद

दो बार भाग चुकी नाबालिग लडक़ी, पुलिस ने हर बार पीड़ित के साथ किया अन्याय, दो दिन चौकी में रखा बंद, मारपीट कर जबरन कराया समझौता 

20से 23 अप्रैल तक लड़की रही गायब, बाद में चौकी के स्टाफ ने जबरन कराया समझौता 

सैफई (इटावा) छह दिन पूर्व अपने प्रेमी के साथ भागी थाना सैफई क्षेत्र के एक गाँव की  नाबालिग लड़की के मामले में कल एसएसपी के आदेश पर सैफई पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया और आनन फानन में लड़की भी बरामद कर ली। कुम्हावर चौकी के सिपाही आरोपियों की मद्द में जुटे थे और लड़की के बाप भाई को जेल भेजने की धमकी दे रहे थे।


पूरा मामला सैफई थाना क्षेत्र के एक गाँव का है। कुम्हाबर निवासी एक 14 साल की नाबालिग लड़की घिरोर क्षेत्र के अपने प्रेमी के साथ भाग गई। उस लड़के की लड़की के पड़ोस में ही रिश्तेदारी है। इस संबंध में कुम्हावर चौकी पर पीड़ित ने लिखित शिकायत की तो चौकी के सिपाहियों ने लड़की के पिता को गाली देकर भगा दिया। इसी बीच जब पीड़ित ने लड़के के रिश्तेदार से शिकायत की तो उसने भी लड़की के भाई व पिता को फर्जी केस में जेल भिजवाने की धमकी दी। तो उसने पुनः चौकी पर शिकायत की तो चौकी के सिपाहियों ने लड़की के पिता व भाई को गाली देकर चौकी से भगा दिया। 

दिनांक 10 सितंबर को लड़की के पिता सैफई एसओ मु० कामिल से मिला और आपबीती बताई तो उन्होंने आरोपी मददगार को थाने बुला लिया तो आरोपी ने लड़का व लड़की से संपर्क करके सुबह थाने में आने की बात कही उसी दौरान पुलिस ने आरोपी को थाने से बिना कार्यवाही किए छोड़ दिया। 

अगले दिन आरोपी  लड़की को लेकर कुम्हावर  चौकी पहुँच गया लेकिन वह लड़के के लेकर नहीं आया तो कुम्हाबर चौकी के सिपाहियों ने नाबालिग लड़की के पिता व भाई को चौकी बुलाकर जेल भेजने की धमकी दी। 

पीड़ित पक्ष ने एसओ को फ़ोन पर जानकारी दी तो एसओ ने दोनों पक्षों को थाने बुलवा लिया। और मुक़दमा लिखने के बजाय थाना सैफई पुलिस व कुम्हावर पुलिस ने लड़की के पिता को धमकाकर समझौता लिखवा लिया और लड़की को आरोपियों के साथ भेज दिया।


♦️लड़की के भाई व बाप को चौकी पर दो भूखा प्यासा रखा बंद, जबरन कराया समझौता♦️


लड़की जब 20 अप्रैल को अपने प्रेमी के साथ भागी तो लड़की के पिता भाई ने कुम्हावर चौकी पर पहुंचकर पुलिस को शिकायत की और लड़की बरामद करने की गुहार लगाई। पहले तो चौकी इंचार्ज व सिपाहियों ने  लड़की के पिता व भाई को चौकी से गाली देकर भगा दिया जब अगले दिन लड़की का पिता भाई फिर चौकी पर पहुंचा तो दरोगा और चौकी के सिपाहियों ने कहा कि आज बैठ तेरी गर्मी निकलता हूं। और दोनों को कमरे में बंद कर दिया दो दिन तक लड़की के भाई और बाप को चौकी पर बंद रखा। उसके बाद स्थानी लोगों की शिकायत पर 23 अप्रैल को चौकी के सिपाहियों ने लड़की को बुलाकर मां-बाप के सुपुर्द कर दिया और बाप भाई को धमकी दी अगर तूने घटना का जिक्र कहीं किया तो तुझे जेल भेज देंगे। चौकी के सिपाहियों ने नाबालिक लड़की से जुड़ी घटना जुड़ी होने के बावजूद भी थाना सैफई पुलिस को कोई सूचना नहीं दी। लड़की बरामद होने के बाद ना ही लड़की का मेडिकल हुआ ना ही लड़की के बयान कराए गए। अगर उसी समय पुलिस ने इस घटना को गंभीरता से लिया होता लड़की की काउंसलिंग कराई गई होती तो नाबालिक लड़की दोबारा यह कदम नहीं उठाती। पीड़ित पिता पुत्र का आरोप है की चौकी के सिपाही प्रवेंद्र और प्रवीन विपक्षी अभियुक्त से मिले हुए हैं इसलिए लगातार मेरा उत्पीड़न कर रहे है। फर्जी मुकदमे में फंसाने व जेल भेजने की धमकी दे रहे है।


♦️ एसएसपी के आदेश पर थाना सैफई में मुकदमा दर्ज♦️

कुम्हावर पुलिस चौकी ने दो दिन व थाना  सैफई पुलिस ने 3 दिन तक  इस मामले को दबाए  रखा और फर्जी तरीके से समझौता करा दिया। लेकिन जैसे ही यह घटना सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो एसएसपी इटावा संजय कुमार वर्मा ने तत्काल संज्ञान लेते हुए सैफई पुलिस को अभियुक्तों  के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दे दिया। थाना पुलिस के आदेश पर तीन नामजद व्यक्तियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश