अंजुमन नौजवान ए पहले सुन्नत की जानिब से जश्न-ए ईद मिलाद उन नबी पर शानदार जुलूस निकाला।

रिपोर्ट -मुस्तकीम मंसूरी

जश्न ए आमद ए रसूल पर निकल गए जुलूस में सदर कैंट की बराह अंजुमनें ए शामिल हुई।

बरेली के सदर कैंट में अंजुमन नौजवान ए अहले सुन्नत की जानिब से जश्न-ए ईद मिलादुन्नबी के मौके पर जश्न ए आमद ए रसूल का जश्न मनाने के लिए एक शानदार जुलूस का आयोजन किया गया जिसमें सदर कैंट की बारह अंजुमनों ने हिस्सा लिया, हुज़ूर सल्ललाहो अलेही वसल्लम पैगंबर मोहम्मद साहब के


जन्मदिवस की खुशी के मौके पर ईद मिलादुन्नबी का भव्य जुलूस निकाला गया, जुलूस में शामिल अंजुमनो में छोटे-छोटे नन्हे मुन्ने बच्चों को आकर्षक पोशाकें पहनाकर जुलूस में शामिल किया गया था, वही जुलूस में तरह-तरह की खूबसूरत

झांकियां और पूरे सदर कैंट की बेहद दिलकश सजावट करके जश्न-ए आमद ए रसूल का शानदार जश्न मनाया गया, पूरा सदर कैंट जश्न ए आमद ए रसूल के जश्न में डूबा हुआ था, ऐसा दिलकश मंज़र देखकर लोग खुशी में सरकार की आमद मरहबा, दिलदार की आमद मरहबा, जश्ने ईद मिलादुन नबी

जिंदाबाद के नारे लगाकर जश्न मना रहे थे, जश्न-ए ईद मिलादुन्नबी के मौके पर जश्न ए आमदे रसूल पर अंजुमन नौजवान ए अहले सुन्नत कमेटी के सदर राशिद भाई, कमेटी के मेंबर यूनुस रज़ा, मंजूर अहमद, असद रज़ा, तोप मेकर यासीन रज़ा, कमेटी मेंबर मकसूद, सलमान, तौफीक, शाने आलम आदि ने जश्न ए ईद मिलादुन्नबी के मौके पर जश्न ए आमद ए रसूल का जश्न पर जहां पूरे सदर कैंट में बेहतरीन सजावट

करवाई वहीं जुलूस में तोप लोगों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी। जुलूस में शामिल अंजुमनों पर तोप के जरिए फूलों की बारिश की जा रही थी, वही नन्हे मुन्ने बच्चे अपने लिवास से लोगों को आकर्षित कर रहे थे, सदर कैंट के जुलूस का दिलकश मंजर देखते ही बनता था पूरे सदर कैंट में मानों जश्न ए आमद ए रसूल के के जश्न में सभी लोग खुशियां मना रहे थे वही जगह-जगह लंगर किया जा रहा था, तो कहीं पर बच्चों को इनाम दिए जा रहे, अंजुमन नौजवान ए अहले सुन्नत के शानदार जुलूस के आयोजन में गौहर अली की भी खास भूमिका रही आज के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए अंजुमन नौजवान ए अहले सुन्नत के पदाधिकारी के साथ ही गौहर अली ने बताया

ने कहा कि मोहम्मद साहब पूरी दुनिया के लिए अमन और शांति का संदेश लेकर आए थे आपने समाजवाद और समता मूलक समाज को प्राथमिकता दी मोहम्मद साहब का कहना था की सब एक अल्लाह के बंदे हैं, इसलिए किसी में कोई भेदभाव और असमानता नहीं होना चाहिए सभी एक बराबर हैं

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश