बिजनौर में तहसीलदार और बजरंग दल के संयोजक से नोकझोंक

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए एडवोकेट नबी हसन की रिपोर्ट,

संयोजक बोले- तहसीलदार ने धक्का देकर ऑफिस से बाहर निकाला,

बिजनौर सदर तहसील में बजरंग दल के कार्यकर्ता का EWS का सर्टिफिकेट बनवाने को लेकर तहसीलदार व बजरंग दल के कार्यकर्ताओं में नोकझोंक हुई। सूचना पर एसडीएम सदर व शहर कोतवाल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और मामले को शांत कराया। बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने तहसीलदार पर अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया।


बजरंग दल के विभाग संयोजक आशीष बालियान का कहना है कि उनके एक कार्यकर्ता का ईडब्ल्यूएस में रजिस्ट्रेशन होना था जिसको 14 दिन पहले ऑनलाइन करा दिया गया था। हल्के के लेखपाल ने आज 11:00 बजे सर्टिफिकेट देने की बात कही थी, लेकिन नहीं दिया गया। कार्यकर्ता जब तहसीलदार के पास बात करने के लिए गया तो तहसीलदार ने उसे धक्के देकर बाहर निकाल दिया। सूचना पर वह खुद तीन चार कार्यकर्ता के साथ तहसीलदार अनुराग सिंह के पास पहुंचे और परिचय कर बाद बात शुरू की तो तहसीलदार ने उनके साथ गाली-गलौज करते हुए अपने स्टाफ को बुलाकर उन्हें दफ्तर से बाहर कर दिया। सूचना पर पुलिस पहुंची तो पुलिस ने भी उनके साथ अभद्रता करते हुए गाड़ी में बैठाकर थाने ले आई। अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है। वह में संगठन में अपनी बात रखेंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश