साध्वी प्राची के बयान पर आगबबूला इस्मा जहीर,ने कहा सीएम योगी से कराएं मेरी शादी

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए लखनऊ से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

   इस्मा, अब यह तो योगी जी को तय करना है कि वो इस्मा जहीर से शादी करते हैं या फिर साध्वी के विरुद्ध गैर संवैधानिक बयान पर एफ आई आर, 

लखनऊ, उत्तर प्रदेश साध्वी प्राची के असंवैधानिक और बेहूदा बयान कि मुस्लिम लड़कियां हिंदू लड़कों से शादी करें और तलाक व हलाला से मुक्ति पाए पर देश की जानी-मानी सामाजिक कार्यकर्ता इस्मा जहीर आग बबूला हो गई और उन्होंने साध्वी प्राची को चुनौती दी और कहा कि वो उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ जी के पास मेरा रिश्ता लेकर जाए और उनही से इसकी शुरुआत करें।


यदि वो मेरी शादी सीएम योगी से नहीं करवा सकती और सीएम योगी रिश्ते को ठुकराते हैं, तो फिर सीएम योगी को चाहिए, कि वो साध्वी प्राची द्वारा संविधान के विरुद्ध दो संप्रदायों के बीच नफरत फैलाने वाले बयान के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कर उनको गिरफ्तार करें।

जानी-मानी सामाजिक कार्यकर्ता इस्मा जहीर ने कहा, कि मैं एक मुसलमान हूं और उससे भी पहले एक भारतीय हूं। मैं संविधान में विश्वास रखती हूं। साध्वी प्राची सस्ती लोकप्रियता हासिल करने की खातिर इस तरह के बेहूदा बयान देखकर संविधान और इंसानियत के खिलाफ काम कर रही हैं। फिर भी मैं उन्हें चुनौती देती हूं, कि वो सीएम योगी से बात करें और मेरा रिश्ता उनके पास लेकर जाएं। यदि वो मुझ से शादी करते हैं,तो ठीक और अगर वो रिश्ता ठुकराते हैं, तो फिर उन्हें साध्वी प्राची के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज करके कार्रवाई करनी चाहिए। यदि सीएम योगी ऐसा नहीं करते, तो फिर समझा जाएगा कि वो साध्वी के बयान के पीछे सीएम योगी खुद खड़े हैं।

सामाजिक कार्यकर्ता इरम रिजवी ने कहा, कि साध्वी प्राची हमेशा उल जलूल बयान देकर समाज में नफरत फैलाने का काम करती रहती हैं। ना इनके ऊपर कोई कानून लागू होता और ना ही यह लोग संविधान का पालन करते हैं। सामाजिक कार्यकर्ता इरम रिजवी ने कहा कि यह तो सीएम योगी को तय करना है कि वो इस्मा जहीर के साथ शादी करते हैं या इस रिश्ते को ठुकराते हैं। अब सीएम योगी सामाजिक कार्यकर्ता इस्मा जहीर की शादी वाली पेशकश को स्वीकार करें ना करें, मगर उन्होंने रिश्ते की बात करके साध्वी प्राची को खुली चुनौती दे दी और उनको इस शादी की पहल करने को कह कर, खुद साध्वी प्राची को घेर लिया। साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता इस्मा जहीर ने साध्वी प्राची को चेतावनी दी और कहा कि वो संविधान से ऊपर नहीं है इसलिए  उल जुलूल बयान देकर समाज में नफरत फैलाना बंद करें|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*