सामाजिक परिवर्तन के लिए राजनीतिक गठबंधन से कहीं ज्यादा जरूरी है भाजपा को हराने के लिए सामाजिक गठबंधन का होना, शमसुद्दीन राईन

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

सपा भाजपा के गुप्त समझौते को बेनकाब करने के लिए उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में दलित मुस्लिम गठजोड़ से भाजपा होगी पराजित|

बरेली,बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री बहन कुमारी मायावती के दिशा निर्देशानुसार गांव चलो अभियान के तहत आज मीरगंज विधानसभा की नगर पंचायत फतेहगंज पश्चिमी में एक दिवसीय सेक्टर स्तर पर कैडर कैंप का आयोजन के मुख्य अतिथि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी शमसुद्दीन राईन ने कैडर कैंप मैं बसपा कार्यकर्ताओं को चुनावी मंत्र के साथ ही संगठन को मजबूत करने के दिशा निर्देश दिए कैडर कैंप में दो सेक्टरों की कमेटी की उपस्थिति बरेली मंडल के मुख्य जॉन इंचार्ज यशपाल सिंह ने बरेली मंडल के  बरेली



मंडल प्रभारी  जगदीश प्रसाद बाबूजी ने बरेली जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह के द्वारा संगठन की उपस्थिति दर्ज करवाई कार्यक्रम के आरंभ में पूर्व चेयरमैन शकील अहमद अंसारी ने मुख्य अतिथि का बड़ी माला पहनाकर स्वागत किया वही दूसरे संभावित प्रत्याशी मोहम्मद इरशाद अंसारी ने शकील अहमद अंसारी के साथ बड़ी माला पहनाकर स्वागत किया मीरगंज विधानसभा के कमेटी के लोगों ने माला पहनाकर स्वागत किया जिसमें जिला कार्यकारिणी सदस्य हरनाम सिंह प्रधान जिला सचिव ओंकार कातिब अनार सिंह सागर जितेंद्र पाल सोनकर ओमपाल सिंह पाल कैलाश चंद शर्मा ओंकार सभासद और बरेली से चलकर आऐ जिला उपाध्यक्ष तौफीक प्रधान ने भी मुख्य अतिथि का माला पहनाकर स्वागत किया कार्यक्रम मैं बोलते हुए मुख्य अतिथि पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी शमसुद्दीन राईन ने सपा और भाजपा पर निशाना साधा उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं समाजवादी पार्टी भारतीय जनता पार्टी का डर दिखाकर मुसलमानों के वोट लेने में कामयाब हो जाती है वही भारतीय जनता पार्टी मुसलमानों का डर दिखाकर हिंदुओं के वोट लेने में कामयाब हो जाती है यह दोनों पार्टियां


हिंदू मुस्लिम की राजनीति करती हैं परंतु बहन कुमारी मायावती ने अपने शासनकाल में एक मिसाल कायम की बहन जी की सरकार में एक भी हिंदू मुस्लिम का दंगा नहीं हुआ वहीं दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी की सरकार में  मुजफ्फरनगर सहित दो सौ से ज्यादा हिंदू मुस्लिम दंगे हुए जिस तरह से समाजवादी पार्टी में  मुसलमानों का शत प्रतिशत बोट लेने के पश्चात भी सरकार नहीं बना पाई, शमसुद्दीन राईन ने कहा इससे यह स्पष्ट हो जाता है की समाजवादी पार्टी भाजपा को हराने में सक्षम नहीं है वही मुस्लिम समाज बहुजन समाज पार्टी की तरफ शत प्रतिशत वोटिंग बहुजन समाज पार्टी को कर देता तो इस उत्तर प्रदेश में  भारतीय जनता पार्टी की सरकार ना होकर बहुजन समाज पार्टी की सरकार बसपा सुप्रीमो बहन कुमारी मायावती ही मुख्यमंत्री होती और प्रदेश में सांप्रदायिक शक्तियां शून्य पर होती जिस तरह पूर्व की बसपा  सरकारों में कानून का राज होता था उसी तरह उत्तर प्रदेश में कानून का राज होता  पश्चिम उत्तर प्रदेश प्रभारी शमसुद्दीन राईन ने कहा बसपा सुप्रीमो पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री मायावती जी का कहना है की राजनीतिक गठबंधन से कहीं ज्यादा जरूरी है सामाजिक गठबंधन का होना क्योंकि राजनीतिक गठबंधन स्वार्थ पर आधारित होते हैं और सामाजिक गठबंधन की सरकारों में ही सामाजिक परिवर्तन होता है सामाजिक गठबंधन से प्राप्त सत्ता में सांप्रदायिक शक्तियां समाप्त की जा सकती है क्योंकि ऐसी सरकारों में कानून का राज होता है जैसा कि बसपा की पूर्व सरकारों में देखा गया है| अंत में जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह ने मीटिंग के समापन के समय कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया और कहा की इस देश में भारतीय जनता पार्टी अमन चैन नहीं चाहती है जिस तरह से जिस पार्टी के 10 सांसद हो और दूसरी तरफ एक समाजवादी पार्टी के तीन सांसदों हों तो मुस्लिम समाज को यह   समझ लेना चाहिए था कि बहुजन समाज पार्टी भारतीय जनता पार्टी की बी टीम है बसपा नहीं सपा है सपा और भाजपा का यह प्रचार करना की बहन मायावती चुनाव नहीं लड़ पा रही हैं तो मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि बहुजन समाज पार्टी देश की तीसरी बड़ी राष्ट्रीय पार्टी है जिसे सपा और भाजपा द्वारा मिलकर डमी बताया जाता है और जिसके तीन सांसद हैं उसको भारतीय जनता पार्टी से लड़ाई में दिखाया

जाता है यह भारतीय जनता पार्टी की सोची-समझी रणनीति है आज मुस्लिम समाज को यह सोचना पड़ेगा कि बहुजन समाज पार्टी ही इस भारतीय जनता पार्टी को उत्तर प्रदेश से सत्ता से दूर कर सकती है अगर 2024 लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से बाहर करना है तो बहुजन समाज पार्टी के बगैर कोई भी पार्टी भाजपा को सत्ता से बाहर नहीं कर सकती इसलिए अब उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव में दलित मुस्लिम का गठजोड़ करके भाजपा को पराजित करना होगा अगर ऐसा होता है तो 2024 लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से बाहर करके देश के लोकतंत्र और संविधान की जीवित रखने के लिए दलित और मुस्लिम का साथ आना जरूरी है| इस अवसर पर बसपा जिलाध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह,जगदीश प्रसाद बाबूजी, यशपाल सिंह जिला उपाध्यक्ष टॉफी प्रधान, फतेहगंज पश्चिमी से चेयरमैन प्रत्याशी इसरार अहमद अंसारी, शकील अहमद,  हरनाम सिंह, अनार सिंह सागर, जितेंद्र पाल सोनकर, ओमपाल सिंह पाल, कैलाश चंद शर्मा, ओंकार सभासद, आदि उपस्थित रहे,कैडर कैंप के समापन के बाद पत्रकारों से वार्ता करते हुए पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी शमसुद्दीन राईन पत्रकारों को बताया

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया