एमसीडी और दिल्ली पुलिस की शय पर भू माफियाओं की पौ बारह और लोगों के जीवन से खिलवाड़ कब तक -?

सेंन्ट्रल दिल्ली के नबी करीम इलाके में बेख़ौफ़ चल रहा अवैध निर्माण।

नई दिल्ली। (संवाददाता)

दिल्ली में अवैध निर्माण को लेकर आये दिन कोई न कोई दुखद ख़बर बनती रही है। कभी बिल्डिंग गिर जाती है तो कहीं लोग दब कर मर जाते हैं | दिल्ली हाईकोर्ट भी एमसीडी  व दूसरे संस्थानों को फटकार लगाता रहता है लेकिन लगता है कि इनके ऊपर कोई फ़र्क नहीं पड़ता है और इनकी आंखों के सामने अवैध निर्माण जारी रहता है। अब भी कहने को दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की वजह से सभी निर्माण कार्य पूरी तरह बंद हैं मगर सेंट्रल दिल्ली के बिल्डर व अवैध भू माफियाओं की हरकतें और कार्य साबित करते हैं कि ये सब काग़ज़ी खानापूर्ति है काम सब चलता है कुछ नहीं रुकता। और ऐसा हो भी रहा है। दिल्ली के थाना नबी करीम इलाके के अंतर्गत आने वाले क़िला कदम शरीफ़ में बेखौफ़ और बिना किसी रोक टोक के अवैध निर्माण चालू है | किला क़दम शरीफ मारवाड़ी बस्ती कच्चा रास्ता बीबी 38 प्रोपर्टी पर चल रहा अवैध निर्माण दर्शाता है कि दिल्ली में प्रदूषण के नाम पर  निर्माण कार्य बंद होने का सरकार का बहाना है |



और साथ में दिल्ली में एमसीडी नाम का विभाग भी जानबूझकर आंखें मूंदता है और अपने स्वार्थ के चलते उसे अवैध निर्माण कार्य दिखाई नहीं देते। फिर दिल्ली पुलिस भी कम नहीं हैं। जिस तेज़ी के साथ इलाके में अवैध निर्माण का काम चल रहा है उसे देखकर लगता है कि यहां भू माफियाओं का राज है | इलाके के लोगों का कहना है कि मोटी रकम कमाने के लालच में ये भूमाफिया अवैध निर्माण करने वाले बिल्डर घटिया मटेरियल लगा कर काम कर रहे हैं। जिससे हमेशा कोई न कोई घटना की आशंका बनी रहती है और अगर कोई इन अवैध निर्माण के ख़िलाफ़ शिकायत करता है तो एमसीडी के अधिकारी आंख बंद करके गहरी नींद में रहते हैं और दिल्ली पुलिस भी शिकायतकर्ता को ही किसी न किसी बहाने टरका देती है। और अगर  कोई हादसा हो जाये तो फिर सभी सरकारी विभाग एक दूसरे पर डालकर मामले को रफा दफा करने की कोशिश करते हैं। आखिर ये कब तक चलेगा।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश