जमीन जाने के सदमे से किसान की हुई मृत्यु, खिरिया बाग में हुई श्रद्धांजलि सभा

खिरिया बाग, आज़मगढ़ 12 दिसंबर 2022. खिरिया बाग आंदोलन से जुड़े वरिष्ठ साथी सुभाष उपाध्याय की जमीन-मकान जाने के सदमें हुई मृत्यु के बाद 61 वें दिन धरने पर श्रद्धांजलि दी गई. खिरिया बाग के धरना स्थल पर आंदोलनकारियों ने दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी. खिरिया बाग के किसानों-मजदूरों ने कहा कि 13 दिसंबर को प्रस्तावित वार्ता के समय परिवर्तन को लेकर हमारा आग्रह था लेकिन अब तक कोई सूचना नहीं मिली कि कब वार्ता होगी. हमारी गुजारिश है कि इस विकट परिस्थिति में जितना जल्द हो ठोस निर्णायक वार्ता की जाए.



इसका आंदोलनकारी सम्मान करेंगे.मोर्चा के संयोजक रामनयन यादव ने कहा कि जमुआ हरिराम के सुभाष उपाध्याय की जमीन जाने के सदमे से कल शाम को हार्ट अटैक से मृत्यु हो गई. इससे जमीन-मकान बचाओ आंदोलन की अपूर्णनीय क्षति हुई है. शोक को संकल्प में तब्दील कर हम इस लड़ाई को अंतिम दम तक लड़ेंगे. पिछले दो महीने में 10 किसान-मजदूर की जमीन जाने के सदमे से मृत्यु हो चुकी है. हमारी मांग है कि सरकार असंवेदनशील न होकर किसानों की मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार करे. किसानों-मजदूरों की मांगों का सम्मान कर अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के मास्टर प्लान को वापस ले.


श्रद्धांजलि सभा में दुखहरन राम, राजीव यादव, राजेश आज़ाद, बलवंत यादव, मसीहुद्दीन संजरी, तारीक शफीक, ऊषा यादव, किस्मती, सुशीला, सुजय उपाध्याय आदि शामिल रहे.


रामनयन यादव

संयोजक, जमीन मकान बचाओ संयुक्त मोर्चा, आज़मगढ़

9935503059


*हम, भारत के लोग, देश के अन्नदाता-मेहनतकश*

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया