सवाल आज़मगढ़ एयरपोर्ट के नाम पर जमीन जब सरकार ने ली तो प्राइवेट कंपनी क्यों देगी विमान सेवा!

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रिजनल कनेक्टिविटी स्कीम के तहत बिग चार्टर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी आज़मगढ़ एयरपोर्ट से लखनऊ के लिए विमान सेवा शुरू करने जा रही है! 2014 में ही बिग चार्टर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बनी और 2014 में ही मोदी सरकार भी बनी! सरकार क्या विमान नहीं चला सकती अगर नहीं चला सकती तो एयरपोर्ट क्यों बना रही! क्या यह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के नाम पर किसानों की जमीन और मकान ढहाकर निजी कंपनियों को देने की साजिश है!

अगर नहीं तो चौधरी चरण सिंह के नाम पर बने लखनऊ एयरपोर्ट को अडानी को क्यों सौंप दिया! क्या वही धोखा आज़मगढ़ के साथ विकास के नाम पर करने की साजिश रची जा रही!

अगर नहीं तो क्यों फिर आज़मगढ़ हवाई अड्डे से विमान सेवा प्राइवेट कंपनी देगी!

राजीव यादव

जनांदोलन का राष्ट्रीय समन्वय

9452800752

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*