पीलीभीत नगर मजिस्ट्रेट डाo राजेश कुमार, C.O. सिटी सुनील दत्त व शहर कोतवाल नरेश कुमार त्यागी ने ख़ानक़ाहे उस्मानिया क़दीरिया के सज्जादा नशीन से बातचीत

 आज दिनांक 04 अक्टूबर 2022 को पीलीभीत नगर मजिस्ट्रेट डाo राजेश कुमार, C.O. सिटी सुनील दत्त व शहर कोतवाल नरेश कुमार त्यागी  ने ख़ानक़ाहे उस्मानिया क़दीरिया के सज्जादा नशीन अल्लामा हज़रत मुफ़्ती मोहम्मद हसन मियाँ क़िब्ला क़दीरी व उनके छोटे भाई नायब सज्जादा सूफ़ी इरफ़ान मियाँ क़िब्ला क़दीरी से उनके निवास खानकाहे उस्मानिया क़दीरिया मोहल्ला शेर मोहम्मद. पीलीभीत पर जाकर मुलाक़ात की और इस वर्ष आने वाले त्योहार पैगम्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहिवसल्लम की यौमे पैदाइश (जन्मदिन) 12 शरीफ के मुबारक मौके पर होने वाले जश्न व निकलने वाले पारम्परिक जुलूस शरीफ पर चर्चा की।



जिसमें सभी अधिकारीगण ने सुरक्षा की दृष्टि से मीटिंग मे मौजूद सभी सम्मानित नागरिको से अपने शहर मे शान्ति व्यवस्था बनाये रखने की अपील की और हज़रत मुफ़्ती हसन मियाँ क़दीरी साहब से सहयोग करने के लिऐ कहा और उक्त प्रशासनिक अधिकारियों ने मद्दे की पुलिया क़दीरी चौक मोहल्ला शेर मोहम्मद पीलीभीत पर मुफ़्ती हसन मियाँ क़िब्ला क़दीरी के द्वारा होने वाले जलसे मे सुरक्षा को दृतिगत रखते हुए दिशानिर्देश दिए और उक्त जलसे मे पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया। उसके बाद मुफ़्ती हसन मियाँ साहब ने अपने देश व शहर मे शान्ति और तरक़्क़ी के लिए दुआ की इस अवसर पर सैकड़ो लोग उपस्थित रहे जिनमे हज़रत जनाब अब्दुल जलील निज़ामी साहब, डाo एस.एम.उबैद (काशिफ), इशरत खां पूर्व चेयरमैन नगरपालिका, पीलीभीत, फैज़ान अली खां, अंशुल गौरव सिंह एडवोकेट, सैय्यद नईम एडवोकेट, मेहरबान अली, निज़ाकत अली क़ादरी, शाहिद खां, इरशाद मियाँ अंसारी, महबूब, रईस मियाँ, जमीर खान, गुड्डू, बाबर बेग, आरिफ खां, शावेज़, अन्ने खां, मोहम्मद आसिम खां, मशकूर, अनीस, नाज़िम, नासिर, सैय्यद ज़फर अली, इत्यादि सैकड़ों की संख्या मे लोग मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया