सत्य की विजय@ki vijjya के संचालक द्वारा ट्विटर हैंडल पर पीलीभीत पुलिस पर लगाए रिश्वत लेने के गंभीर आरोप!क्या सत्य हैं, या फिर पुलिस को बदनाम करने की साजिश?

बेताब समाचार एक्स्प्रेस के लिए पीलीभीत से ब्यूरो चीफ शाहिद खान की रिपोर्ट, 

पीलीभीत सत्य की विजय@ki vijya ट्विटर हैंडल के संचालक द्वारा थाना कोतवाली प्रभारी हरीश वर्धन सिंह पर लगाए गए गंभीर आरोप सत्य हैं, या पुलिस को बदनाम को बदनाम करने की साजिश? आरोपी का कहना है कि थाना प्रभारी कोतवाली से सीओ व कप्तान और राज्यमंत्री लेते हैं, मोटी रकम जिसके चलते थाना प्रभारी का ट्रांसफर होने के बाद भी रिलीव नहीं किया जा रहा है



जबकि थाना प्रभारी को क्षेत्र में देखरेख शांति व्यवस्था और उरस ए शाह जी व आने वाली बकरीद के लिए मुस्तैद किया गया है इस पोस्ट को वायरल करने से माननीय राज्यमंत्री, पुलिस अधीक्षक पीलीभीत, सीओ, व प्रभारी निरीक्षक की छवि को धूमिल करने की कोशिश की गई है व उनके मान सम्मान को ठेस पहुंचाया गया है जबकि जिला पीलीभीत के पुलिस अधीक्षक निस्वार्थ पीड़ित जनता की सुनवाई कर उनकी तुरंत मदद करते हैं रास्ते में जाते समय अगर उनको कोई एक्सीडेंट मिल जाता है तो वह घायल व्यक्तियों को तुरंत अपनी एस्कॉर्ट गाड़ी से अस्पताल भिजवाते हैं, पुलिस कप्तान ज़िले में बेहतरीन पुलिसिंग से जनता में लगातार लोकप्रियता हासिल कर रहे हैं| उनके कुशल नेतृत्व में अपराधियों पर लगाम कसी है|अधिकतर अपराधी जेल की सलाखों के पीछे हैं, या फिर ज़िला छोड़ दिया है|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग