पत्रकार शमशाद अली मसूदी के साथ मारपीट- लूट के मामले में दर्जनों मीडिया कर्मियों का दयालपुर थाने पर जमावड़ा,

नई दिल्ली (अनवार अहमद नूर)
पत्रकारों और मीडिया पर हमले लगातार बढ़ते जा रहे हैं जिससे सच्ची मीडिया को  दबाया डराया जा सके। गुंडों के होंसले इतने अधिक बढ़ गये हैं कि वह उन्हें सरे राह मारने पीटने पर उतारू हो गए हैं। ऐसी ही घटना दिनांक,03/07/2022 की शाम लगभग साढ़े आठ बजे ,मुस्तफाबाद, दिल्ली में हुई। जब लोकतंत्र का पाया समाचारपत्र के संपादक शमशाद अली मसूदी के साथ कुछ तत्वों ने मारपीट और लूटपाट की । जिससे उन्हें गंभीर चोटें भी आई हैं । जिसकी सूचना तुरंत पुलिस और दयालपुर थाने और डीसीपी महोदय को दे दी गई। लेकिन तत्काल कार्रवाई नहीं की गई। इस पर दर्जनों मीडिया कर्मियों ने आज थाना दयालपुर में इकट्ठा होकर पत्रकार शमशाद अली के साथ हुई घटना की निन्दा की और एसएचओ से तुरन्त दोषियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की मांग रखी। दयालपुर थाना एसएचओ गिरीश जैन ने पत्रकारों के समक्ष  ही एमरजेंसी काल पर ड्यूटी अफसर महीपाल को इस बात के लिए डांट भी लगाई कि उन्होंने कोई एक्शन क्यों नहीं लिया। मीडिया कर्मियों ने इस ख़बर को थाने से ही लाइव भी किया। पीड़ित पत्रकार शमशाद अली ने बताया कि जब वह अपने दो पहिया वाहन से जा रहे थे तब एक नेता जो अपने आप को एआईएमआईएम का नेता बताता है उसके लड़के ने कई गुंडों के साथ जो पहले से घात लगाए बैठे थे ने उन्हें रोक कर हमला बोल दिया और उनके सिर पेट मुंह आदि पर ताबड़तोड़ घूंसे बरसाए। हैलमैट से चोट पहुंचाई। उनके कपड़े तक फट गये। उनकी जेब में रखे पैसे भी लूट लिए। उन्होंने पुलिस को काल किया तो उन्हें थाने आकर घटना की जानकारी देने को कहा गया।

आज थाना दयालपुर पहुंचे पत्रकारों ने एस एच ओ के व्यवहार पर अनेक सवाल उठाए और कहा कि वह पत्रकारों के मामलों को हल्के में लेते हुए लापरवाही बरतते हैं। लेकिन दो दर्जन से अधिक पत्रकारों के पहुंचने पर उन्होंने पीड़ित से बातचीत की, शिकायत दर्ज कराते हुए, पीड़ित को मैडिकल के लिए भेजा। और देरी के लिए अपने अधिकारी महीपाल को डांट डपट भी की। पत्रकारों ने कहा कि मीडिया के साथ दुर्व्यवहार और हिंसा के मामले बढ़ रहे हैं। उन पर पुलिस प्रशासन और सरकार का उपेक्षा भरा रवैया अनुचित है। पत्रकारों का अपमान और उनके साथ मारपीट के मामले बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। दयालपुर थाना पर पहुंचे पत्रकारों में एस ए बेताब(बेताब समाचार), अजय जैन, कपिल ढाका, अब्दुल रहमान, आसिफ अंसारी, तासीम अहमद (क्राइम टुडे-18), खलील पंवार, नाज़िम, जेके इदरीस, मोहम्मद असलम(मीडिया संसार),डा खालिद (दिल्ली लाइव न्यूज़), संध्या सक्सेना, शाकिर अंसारी,  गुलफाम, हुस्ना हाशमी, रफी अहमद, अनवर खान, राकेश शर्मा, रानी खान, एजाज अली, संतोष, दीपमाला, इमरान, आसिफ मलिक, शहनवाज सिद्दीकी, केसर, शान मोहम्मद(स्वदेश प्रेम), सलीम इदरीसी, रुबी, इस्लाम खॉ(शाह टाइम्स), अनवार अहमद नूर(डेमोक्रेटिक प्रेस क्लब ऑफ इंडिया), नौशाद अंसारी, इसरार अहमद, ललिता देवी, शाहिद खान आदि के नाम मौजूद हैं।



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग