भारतीय रेलवे विभाग का बड़ा फैसला टीटीई अब ट्रेनों में यात्रा के दौरान मनमाने ढंग से बर्थ आवंटित नहीं कर सकेंगे, टीटीई अब चार्ट की जगह आधुनिक मशीन लेकर चलेंगे,

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

रेलवे बोर्ड के निर्देश पर नार्थ ईस्टर्न रेलवे में ट्रेनिंग शुरू हो गई है, पहले चरण में पूर्वोत्तर रेलवे के 16 कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया गया है|

लखनऊ, रेलवे विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार टीटीई ट्रेनों में यात्रा के दौरान मनमाने ढंग से बर्थ आवंटित नहीं कर सकते हैं| अब टिकट चेक करने वाले कर्मचारी हाथ में मैनुअल चार्ट के बजाय अब आधुनिक हैंड हेल्ड (एच एच टी) से लैस होंगे| रेलवे बोर्ड के निर्देश पर नार्थ ईस्टर्न रेलवे में ट्रेनिंग शुरू हो गई है| पहले चरण में पूर्वोत्तर रेलवे के 16 कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया गया है| कर्मचारियों को प्रशिक्षण के बाद  एचएचटी दिया जाएगा|



मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार, पूर्वोत्तर रेलवे को कुल 316 एचएचटी मिले हैं, इनमें से लखनऊ मंडल में 191, वाराणसी मंडल में 96 और इज्जत नगर मंडल में 29 एचएचटी आवंटित किए गए हैं|

अब बर्थ खाली होते ही आरएसी और वेटिंग टिकट कंफर्म होंगे, ट्रेन में यात्रियों के नेट टर्न-अप के कारण खाली हुई बर्थ को एचएचटी में फिड किया जाएगा| खाली बर्थ फिड होते ही आरएसी बर्थ की पुष्टि हो जाएगी| टिकट कंफर्मेशन की जानकारी यात्री के मोबाइल पर पहुंच जाएगी|

आरएसी  क्लियर होने के बाद बर्थ खाली होने के बाद वेटिंग लिस्ट के यात्रियों के टिकट भी कंफर्म हो जाएंगे| इसकी जानकारी यात्रियों के मोबाइल फोन तक पहुंच जाएगी| एचएचटी के उपयोग से अनधिकृत बर्थ आवंटन पर भी अंकुश लगेगा| वेटिंग लिस्ट के यात्रियों को राहत के साथ-साथ पारदर्शिता के साथ रियल टाइम पर बर्थ की उपलब्धता भी मिलेगी|

हैंड हेल्ड टमिर्नल (एचएचटी) सिस्टम रेलटेल यह नेटवर्क 4 जी पर चलेगा| वह रास्ते में पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) की तरह प्रतिक्रिया नहीं देगा| दरअसल व्यवस्था को पारदर्शी बनाने के लिए रेलवे प्रशासन ने हर टीटीई को पीओएस दिया है| परंतु आज तक एक भी ऑनलाइन जुर्माना नहीं काटा गया है| रेलवे और भारतीय स्टेट बैंक के पीओएस सिस्टम टेकऑफ़ पहले ही चरमरा गए हैं|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग