बिहार प्रदेश महागठबंधन का राजद जिला अध्यक्ष शेषनाथ सिंह की अध्यक्षता में बापू सभागार में 7 अगस्त 2022 को पूरे बिहार में वृहद कार्यक्रम को सफल बनाने का निर्णय लिया गया|

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बिहार से ब्यूरो रिपोर्ट, 

सरकारी जमीन पर जो गरीब लोग बचे हैं उनको राज सरकार द्वारा बुलडोजर के माध्यम से ध्वस्त किया जा रहा है|

बिहार, आज बक्सर अतिथि गृह में माहागठबंधन का राजद जिला अध्यक्ष श्री शेषनाथ सिंह की अध्यक्षता में बैठक किया गया।इस बैठक का मुख्य उद्देश्य प्रदेश माहागठबंधन नेतृत्व द्वारा पटना बापू सभागार में  7अगस्त2022 को पूरे बिहार में बृहद कार्यक्रमकरने  के लिए,लिए गए निर्णय को सफ़ल बनाने के लिए किया गया।कार्यक्रम में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, अफसरों की मनमानी, अग्निपथ  औऱ मुख्य बिंदुओं को रख कर बक्सर में 7अगस्त को विशाल रैली निकाल कर सरकार के गलत नीतियों के विरोध में जनाक्रोश रैली निकाल कर रोष प्रकट किया जाएगा।


डुमराँव विधायक श्री अजीत कुमार सिंह कुशवाहा ने बताया कि सरकारी जमीन पर जो गरीब लोग बसे हैं उनको  राज्य सरकार द्वारा बोलडोज़र के माध्यम से ध्वस्त किया जा रहा है उसका माहागठबंधन द्वारा जम कर सरकार का विरोध किया जाएगा। इस कार्यक्रम में केंद्रएवं राज्य सरकार का सलोगन के साथ जम कर विरोध किया जाएगा। माहागठबंधन के सभी घटक दलों के जिला के मुख्य पदाधिकारी व डुमराँव विधायक श्री अजीत कुशवाहा, ब्रह्मपुर विधायक श्री शम्भु नाथ यादव बक्सर के पूर्व सांसद श्री तेजनारायण सिंह द्वारा कार्यक्रम को किस प्रकार से सफल बनाया जाए उस पर अपना अपना विचार रखे।बैठक में सीपीआई एम के जिला सचिव भगवती प्रसाद,सीपीआई के जिला सचिव बालक दास,राजद के प्रदेश महासचिव निर्मल कुशवाहा,  बक्सर राजद जिला प्रधान महासचिव धनपति चौधरी, राजद  झुग्गी झोपड़ी के प्रदेश अध्यक्ष संतोष भारती, जवाहरलाल पासवान जिला मीडिया प्रभारी हरेन्द्र कुमार सिंह ,हरेन्द्र यादव, उमाशंकर यादव ,एवं सीपीआई के अरुण कुमार ओझा उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग