कुतुब खाना फ्लाईओवर अब चौपला मार्ग पर उतरना संभव नहीं दिख रहा है, इसमें कई पेच फंस गए हैं, इसे देखते हुए कमिश्नर सेल्वा कुमारी जे की ओर से एक उच्च स्तरीय कमेटी बनाई गई है जो अब पुल को वाईशेव में बनाने की तैयारी कर रही है|

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

इंजीनियरों द्वारा अब कुतुब खाना फ्लाईओवर को वॉइस शेप में बनाने की हो रही है तैयारी, 

 बरेली: कुतुबखाना पुल का अब सिर्फ चौपुला मार्ग पर उतरना संभव नहीं दिख रहा है। इसमें कई पेच फंस गए हैं। इसे देखते हुए कमिश्नर सेल्वा कुमारी जे. की ओर से बनाई गई उच्च स्तरीय कमेटी अब पुल को वाईशेप में बनाने की तैयारी कर रही है।



कमेटी ने प्रथम दृष्टया पाया है कि भविष्य की जरूरतों को देखते हुए पुल वाईशेप में ही बनना चाहिए। चौपुला मार्ग पर पुल उतरता है तो वाहनों को आगे मुड़ने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है। इसके अलावा यहां हर साल उर्स के बड़े आयोजन के दौरान दो-तीन दिन वाहनों की आवाजाही बंद रहती है। ऐसे में कुतुबखाना पुल को बंद नहीं किया जा सकेगा। कई अन्य बाधाएं भी सामने आ रही हैं। पुल को वाईशेप में बनाने की योजना को अंतिम रूप देने के लिए शुक्रवार को सिटी मजिस्ट्रेट राजीव पांडेय की अध्यक्षता में बनी कमेटी फिर से मौका मुआयना करके अपनी रिपोर्ट कमिश्नर को सौंपेगी।

कुतुबखाना पुल लगभग 1400 मीटर लंबा होगा। स्मार्ट सिटी के तहत 90 करोड़ की लागत से इसका निर्माण होना है। पहले पुल का डिजाइन कोतवाली मार्ग पर उतारने के लिए बनाया गया लेकिन बाद में जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने पुल की दिशा बदलकर चौपुला मार्ग कर दी। हैदराबाद की कंपनी के इंजीनियर भी इसके निर्माण के लिए पहुंच गए लेकिन इस समय कार्य बंद है, क्योंकि पुल का डिजाइन ही फाइनल नहीं हो पा रहा है। व्यापारी भी पुल का विरोध कर रहे हैं। इसी बीच कमिश्नर ने उच्च स्तरीय कमेटी बना दी। कमेटी ने दो दिन पहले क्षेत्र का दौरा किया। बृहस्पतिवार को रिपोर्ट कमिश्नर को सौंपी। नगर निगम, सेतु निगम, पीडब्ल्यूडी आदि विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की गई। कमिश्नर के आदेश पर कमेटी शुक्रवार को पुल का फाइनल डिजाइन तय करेगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग