सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद मोहम्मद आज़म खांन जेल से रिहा, रिहाई के समय शिवपाल यादव रहे मौजूद, सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने किया किनारा आखिर क्यों?

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए लखनऊ से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

आज़म खांन की रिहाई के वक्त शिवपाल यादव की मौजूदगी, और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव की गैरमौजूदगी अपने आप में कई सवाल खड़े करती है|

लखनऊ,सीतापुर जेल में बंद सपा के कद्दावर नेता पूर्व कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आज़म खांन की  27 महा बाद जेल से रिहाई, सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद आज़म खांन जेल से रिहा, रिहाई के समय शिवपाल यादव रहे मौजूद, परंतु सपा सुप्रीमो पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज़म खांन से बनाई दूरी आखिर क्यों? 





सपा के कद्दावर नेता पूर्व कैबिनेट मंत्री विधायक मोहम्मद आज़म खांन आज सीतापुर जेल से रिहा हो गए हैं, गुरुवार की देर रात आज़म खांन का रिहाई आदेश जेल प्रशासन को प्राप्त हो गया| उधर आज़म खांन की रिहाई की खबर पर उनके समर्थकों की भीड़ जेल गेट के पास जुट गई, सपा के संस्थापक सदस्य विधायक मोहम्मद आज़म खांन 812 दिन बाद सीतापुर जेल से शुक्रवार को रिहा हो गए| सुप्रीम कोर्ट से गुरुवार को अंतरिम जमानत मिलने के बाद आज़म खांन की रिहाई का आदेश देर रात सीतापुर जिला जेल प्रशासन को मिला |और आज सुबह उनकी रिहाई का इंतजाम किया गया| आज़म खांन आज सुबह 8:06 पर जेल से बाहर आए, मोहम्मद आजम खान की रिहाई की खबर पर उनके समर्थकों की भीड़ सुबह 5:00 बजे से ही जेल गेट के पास जुटने लगी थी| आज़म खांन के बड़े बेटे अदीब आज़म सबसे पहले जेल पहुंचे, इसके बाद आज़म खां के विधायक बेटे अब्दुल्लाह आज़म खांन के साथ सपा विधायक आशु मलिक भी सीतापुर जेल पहुंच गए, अब्दुल्लाह आज़म 6:55 पर जेल के अंदर गए, आज़म खांन के समर्थक रामपुर लखनऊ व अन्य जिलों से भी सीतापुर पहुंचे, आपको बताते चलें सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को सपा विधायक आज़म खांन की अंतरिम जमानत मजदूर की थी| जमानत मंजूर होने के बाद से ही आज़म खां की रिहाई के आदेश का इंतजार हो रहा था| गुरुवार की देर शाम तक रिहाई परवाना ना मिलने की वजह से उनकी रिहाई नहीं हो सकी थी| गौरतलब है सपा के संस्थापक सदस्य कद्दावर मुस्लिम नेता पूर्व कैबिनेट मंत्री  विधायक आज़म खांन की रिहाई के वक्त सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव नहीं पहुंचे, परंतु उनके चाचा प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सपा के विधायक शिवपाल सिंह यादव सुबह 7:00 बजे सीतापुर जेल पहुंचे, शिवपाल यादव गाड़ी में ही जेल परिसर में दाखिल हुए, आज़म खांन की रिहाई को लेकर जेल गेट पर कई थानों की पुलिस लगाई गई, आज़म खां की रिहाई को लेकर पुलिस प्रशासन मुस्तैद दिखा, शहर के सभी एंट्री पॉइंट पर तैनात पुलिसकर्मी आने जाने वाली सभी गाड़ियों की जांच करते दिखे| वैदेही वाटिका, आरएमपी मोड़, बहुगुणा चौराहा, रोडवेज, जीआईसी चौराहा, काशीराम कॉलोनी के पास पुलिस मुस्तैद दिखी, जेल रोड पर कई थानों की पुलिस लगी थी| जेल से रिहा होकर बाहर आने के बाद सपा विधायक आज़म खांन महोली के पूर्व विधायक अनूप गुप्ता के आवास पर पहुंचे पूर्व विधायक अनूप गुप्ता का घर जेल से बमुश्किल 100 मीटर की दूरी पर है| यहां करीब आधा घंटा रुकने के बाद आज़म खांन सीतापुर से रामपुर के लिए रवाना हो गए| 

मोहम्मद आज़म खांन जेल में रहकर बने विधायक|

सीतापुर जिला जेल में बंद आज़म खां ने विधानसभा चुनाव में जेल से लड़ा चुनाव जीत कर वह रामपुर सदर सीट से विधायक बने|

फरवरी 2020 से सीतापुर जेल में बंद थे मोहम्मद आज़म खांन|

सपा विधायक मोहम्मद आज़म खांन को रामपुर में विभिन्न मामलों में आरोपित होने के बाद 27 फरवरी 2020 में सीतापुर जेल भेजा गया था| उनके साथ उनकी पत्नी डॉक्टर तंजीम फातिमा और छोटे बेटे अब्दुल्लाह आज़म भी सीतापुर जेल भेजे गए थे करीब 10 माह बाद आज़म खांन की पत्नी डॉक्टर तंजीन फातिमा को जमानत मिल गई थी| और अब्दुल्ला आजम 15 जनवरी 2022 को रिहा हुए थे| जमानत मिलने के बाद आज़म खांन करीब 27 महीने बाद सीतापुर जेल से रिहा किए गए|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया