दबंग व्यक्तियों के धक्का देने से नाली मे गिरे व्यक्ति को बचाना पड़ा महंगा , पिटाई करके किया अधमरा, पुलिस से कानूनी कार्यवाही की गुहार

 अनीता देवी की रिपोर्ट

जनपद बरेली के थाना बहेडी क्षेत्र में महेंद्र पाल पुत्र रामप्रसाद निवासी अकबराबाद बहेडी बरेली ने एक तहरीर देकर आरोपित किया है कि विपक्षीगणों द्वारा प्रार्थीगणों को बुरी तरह मारा पीटा गया व जाति सूचक शब्दों का प्रयोग किया गया है। पीडित बरेली के थाना बहेड़ी के ग्राम अकबराबाद होली मिलकर अपने घर वापस आ रहा था रास्ते में छोटे मंदिर पर डीजे बज रहा था एक लड़का राम कैलाश डांस कर रहा था कि उक्त विपक्षीगण ने उस लड़के को जोर से धक्का मार दिया।



 

वह नाली में जा गिरा प्रार्थी जैसे ही उस लड़के को उठाने नाली की तरफ झुका तो वह लोग प्रार्थी को मां बहन की गंदी गंदी गाली देने लगा कि तू इसे बचाएगा प्रार्थी ने गाली देने का विरोध किया तो डालचंद , खेमपाल , उमेश, विनोद , गुड्डा , पांचो ने गुस्से में आकर आग बबूला हो गए और प्रार्थी महेंद्र पाल , सचिन, अभिषेक, को बुरी तरह लातों व डंडों से मारने पीटने लगे। वह धारदार हथियार से जानलेवा हमला किया। सिर व हाथ में काफी गहरी चोट आई।शोर सुनकर मोहल्ले के लोग मौके पर आ गए। और बचाने का प्रयास किया ।  विपक्षीगणो ने प्रार्थी को एलानिया धमकी दी, जाति सूचक शब्द बोले ...... और  कहा  तुम्हारी औकात क्या है अबकी बार तो बच गए अगली बार जिंदा नहीं छोड़ेंगे। तुम लोग हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकोगे हमारी राजनीतिक पकड़ ऊपर तक है दिनांक 18/3/2022  को प्रार्थी  ने जिला बरेली थाना बहेड़ी को प्रार्थना पत्र दिया पुलिस ने धाराएं 323,506 के तहत  एनसीआर दर्ज कर ली है जबकि उचित धाराओं में एफ आई आर दर्ज होनी चाहिए  और अभियुक्तों की गिरफ्तारी होनी चाहिए लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की है। प्रार्थी गरीब व्यक्ति है बहुत परेशान है प्रार्थी ने प्रशासन से मदद के लिए लगाई गुहार।दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग