बहेड़ी मे पूर्व मंत्री छत्रपाल के प्रतिनिधि सुरेश और भाजपा कार्यकर्ता राहुल गुप्ता के विरुद्ध शहर का साम्प्रदायिक सौहार्द खराब करने के मामले मे मुकदमा दर्ज

शहर का माहौल खराब करने बाले हुड़दंगियों को बख्शा नहीं जायेगा:एसपीआरए 

बरेली के बहेड़ी मे होली के दिन जुलूस निकालने के दौरान एक मस्जिद मे रंग फेककर शहर का साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने पर पुलिस ने दो भाजपा नेताओं समेत 45 अज्ञात लोगों  पर शहर का माहौल खराब करने के मामले मे मुकदमा दर्ज किया है।



बरेली के बहेड़ी मे शुक्रवार को  होली के  दिन शहर के पंजाबी कालोनी से भाजपा नेता राहुल गुप्ता व सुरेश गंगवार सहित सैकड़ों लोग होली खेलते हुए जुलूस की शक्ल मे जब मुस्लिम बस्ती  मे कुरैशी मस्जिद के पास पहुंचे,तो उन्होंने  मस्जिद मे गुलाल फेंक दिया, जिससे मस्जिद की सफाई कर रहे मस्जिद के संरक्षक अब्दुल खालिक चौधरी के कपड़ों पर काफी मात्रा मे रंग लग गया।बताया जाता है कि इस बात से नाराज़ लोगों ने वहां भीड़ इकट्ठा कर ली और इस तरह की घटना का खुला विरोध जताया।घटना की सूचना पर बहेड़ी के तमाम नेतागण व मुस्लिम तंजीमों से संबंधित लोग वहां पहुंचे, तो बहेड़ी थाना कोतवाल ने वहां पहुंचकर लोगों को कारर्वाई का आश्वासन देकर माहौल शांत कराया।इसके बाद शहर के तमाम  लोगों ने जुमे की  नमाज के बाद इकट्ठा होकर जुलूस निकालते हुए  विरोध जताया।दोपहर के बाद पुलिस ने शहर का माहौल खराब होने की स्थिति को देखते हुए भाजपा नेता राहुल गुप्ता,पूर्व मंत्री बहेड़ी छत्रपाल गंगवार के प्रतिनिधि केसुरेश गंगवार सहित 45 अज्ञात लोगों के विरुद्ध साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने व शहर का माहौल खराब करने की साजिश के तहत मुकदमा दर्ज किया है।इस बारे मे जब पूर्व मंत्री छत्रपाल गंगवार से फोन पर बात की गई, तो उन्होंने किसी भी तरह की जानकारी होने से इंकार करते हुए कहा कि ऐसा कुछ नहीं हुआ है और मै तो होली जुलूस मे साथ था।लेकिन ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।उन्होंने बातचीत मे आगे कहा कि मुकदमे से संबंधित उन्हें कोइ जानकारी नही है।

बहेड़ी से अनीता देवी कि रिपोर्ट



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग