आम आदमी पार्टी के इशारे पर हुई मजलिस कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफ़ आई आर : कलीमुल हफ़ीज़

 आपका विधायक आपके द्वार में हजारों की भीड़, मजलिस को अपने उद्घाटन की भी इजाज़त नहीं: दिल्ली ए आई एम आई एम

प्रेस रिलीज़ 2 नवंबर 2021 

नई दिल्ली,दिल्ली पुलिस का भेदभाव पूर्ण रवैया उस वक्त खुलकर सामने आ गया जब उसने जनता कॉलोनी वार्ड में हमारे कार्यालय का उद्घाटन होने से रोकने की कोशिश की। एक तरफ़ बाजारों में हजारों की भीड़ है दूसरी तरफ़ आपका विधायक आपके द्वार के प्रोग्राम में कई कई हज़ार लोग जमा हो रहे हैं ।वही मजलिस को कार्यालय का उद्घाटन करने से भी पुलिस रोक रही है और पहले से इजाज़त लेने पर इजाज़त भी नहीं दे रही है यह हमारे ऊपर ज़ुल्म है इन विचारों को ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन दिल्ली के सदर कलीमुल हफ़ीज़ ने प्रेस को जारी एक बयान में व्यक्त किया।

ज्ञात रहे कि 2 दिन पहले बाबरपुर विधानसभा के जनता कॉलोनी वार्ड में मजलिस के कार्यालय उद्घाटन के अवसर पर पुलिस ने पहुंचकर माइक बंद करवा दिया था और 3 लोगों के ख़िलाफ़ एफ़ आई आर दर्ज कर दी थी। कलीमुल हफ़ीज़ ने कहा सरकार को मजलिस की कामयाबी का ख़ौफ़ सताने लगा है। इसलिए उसके मंत्री पुलिस को भेजकर प्रोग्राम रुकवाने की कोशिश कर रहे हैं पुलिस ने वहां पर मौजूद लोगों को धमकाया, औरतों को डराया और कई लोगों से मोबाइल छीन लिए, साउंड सिस्टम वाले को भगा दिया यह पुलिस की ज़्यादती है और लोकतंत्र का मज़ाक है आख़िर पुलिस मजलिस के कार्यकर्ताओं को किसके इशारे पर परेशान कर रही है? उसके साथ ही पुलिस ने देर रात वार्ड अध्यक्ष के घर को पुलिस की भारी तादाद के साथ इस तरह घेर लिया जैसे किसी दहशत गर्द को घेरा जाता है और बाद में मजलिस के तीन लोगों के ख़िलाफ़ एफ़ आई आर दर्ज कर दी । इन तीन में से  तैयबा यासीन ने तो बक़ायदा मजलिस ज्वाइन भी नहीं की है। मजलिस अध्यक्ष ने कहा कि इस तरह सरकार समझती है कि मजलिस डर जाएगी ऐसा हरगिज़ नहीं होगा।मजलिस के कार्यकर्ताओं के हौसले बुलंद हैं जनता पुलिस की ज़्यादतियां और भेदभाव देख रही है सही वक़्त पर जवाब देगी। कलीमुल हफ़ीज़ ने कहा कि पुलिस के पास पहले से प्रोग्राम की इजाज़त लेने जाएं तो टरका देती है और इजाज़त नहीं देती। पुलिस एक तरफ़ से प्रोग्राम को रोकने के लिए आती है और एफ़ आई आर दर्ज कर देती है हालांकि कोरोना गाइडलाइनस के अनुसार 200 लोगों के प्रोग्राम की इजाज़त है दूसरी तरफ पूरी दिल्ली में सरकार के विधायक अपने इलाकों में भारी भीड़ के साथ आपका विधायक आपके द्वार का प्रोग्राम कर रहे हैं पुलिस को दोगले रवैया से बाज आना चाहिए और क़ानून के मुताबिक़ काम करना चाहिए।क़ानून की नज़र में सब एक हैं। इसलिए सबके साथ एक जैसा ही सलूक किया जाना चाहिए।

 अब्दुल ग़फ़्फ़ार सिद्दीक़ी 

मीडिया इंचार्ज 

मजलिस दिल्ली 

8287421080

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग