बरेली नैनीताल हाइवे पर तेज़ रफ़्तार बेकाबू हुई एंबुलेंस ने बाइक सवारों को रोंदा, दो दोस्तों की मौत, गर्लफ्रेंड की हालत गंभीर

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए अनीता देवी की रिपोर्ट

पुलिस के मुताबिक हादसा शनिवार तड़के पाच बजे के करीब भोजीपुरा के एस आर एम एस मेडिकल कॉलेज के सामने हुआ

बरेली-नैनीताल हाइवे पर बेकाबू एंबुलेंस ने बाइक सवार दो युवक और उनकी गर्लफ्रेंड को रोंद दिया। हादसे में दोनों युवकों की मौत हो गई, जबकि गर्लफ्रेंड और एंबुलेंस चालक गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया


गया है।पुलिस के मुताबिक, हादसा शनिवार तड़के पांच बजे के करीब भोजीपुरा के एसआरएमएस मेडिकल कॉलेज के सामने हुआ। खूनी हादसे का शिकार हुआ राहुल शर्मा बरेली शहर में थाना प्रेमनगर क्षेत्र के मोहल्ला चौधरी तालाब और उसका दोस्त दीपक भैसिया, मुरादाबाद का रहने वाला था। राहुल अपने दोस्त दीपक और बरेली की रहने वाली गर्लफ्रेंड के साथ एक ही बाइक से हल्द्वानी की ओर जा रहा था।एसआरएमएस कॉलेज के सामने हल्द्वानी से मरीज लेकर एसआरएमएस अस्पताल आ रही एंबुलेंस ने गलत दिशा से आकर बाइक को चपेट में ले लिया। आमने सामने की टक्कर में बाइक सवार राहुल शर्मा और उसके दोस्त दीपक की मौके पर ही मौत हो गयी, जबकि बाइक पर सवार उनके राहुल की गर्ल फ्रेंड गंभीर रूप से घायल हो गई। एंबुलेंस चालक हल्द्वानी के मोहल्ला उत्तर उजाला निवासी मोहम्मद रियाज को गंभीर चोटें आईं।हादसा होते ही एसआरएमएस कॉलेज के सुरक्षागार्डों दौड़कर मौके पर पहुंच गए। काफी भीड़ लग गई। सूचना पर थाना भोजीपुरा पुलिस भी पहुंच गई। घायल युवक और एंबुलेंस चालक को एसएमआरएमएस में भर्ती कराया गया है। दोनों की हालत नाजुक बताई गई है। हादसे का पता होते ही मृतक राहुल और घायल युवती के परिवारीजन अस्पताल पहुंच गए। मारे गए युवकों के परिवार में कोहराम मचा है। पुलिस ने राहुल और दीपक के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग