सैयद मसऊद अली बब्बू मस्टर पूर्व सभासद माहिर गोंडवी की याद में एक मुशायरे का आयोजन इमामबाड़ा गोंडा में किया गया

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट

गोंडा, माहिर गोंडवी की याद में इमामबाड़ा में पूर्व सभासद सैयद मसऊद अली 'बब्बू मास्टर' उर्फ माहिर गोंडवी साहब के जन्मदिन पर आपकी याद में एक मुशायरा वा कवि सम्मेलन किया गया.. जिसकी सदारत जनाब जमील आज़मी साहब निज़ामत जनाब शम्सुल हक़ ने की..

मेहमाने ख़ुसूसी के तौर पर जनाब मुजीब सिद्दीकी साहब ने शिरकत की...

जमशेद वारसी साहब और नजमी कमाल साहब ने बब्बू

मास्टर उर्फ माहिर गोंडवी साहब की ज़िंदगी के बारे में रोशनी डालते हुवे उनकी तमाम खूबियों के बारे में लोगों को बताया कि वो  एक अध्यापक , हकीम, शाइर, सभासद और एक सामाजिक व्यक्ति के तौर पर अपनी ज़िम्मेदारी को किस तरह अंजाम दिया ... उनसे छोटे बड़े सभी मुहब्बत किया करते थे.. मुहल्ले में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में आपका बड़ा योगदान रहा है .. प्रशासन कि तरफ से  आपको इस विषय मे सम्मानित भी किया जा चुका है...

प्रोग्राम का आग़ाज़ आतिफ़ गोंडवी साहब की नात से किया गया....

जमील आज़मी आज़मी साहब ने पढ़ा कि-

उनकी रफअत का बयां कैसे हो जिसके आगे

मैंने कोहसार का झुकते हुवे सर देखा है

मुजीब सिद्दीक़ी साहब ने पढ़ा कि-

घर छोड़के जंगल को बसाने वाले

चेहरों को तहे खाक़ छुपाने वाले

क्या जाने वहां देखते हैं क्या मंज़र

आते ही नहीं लौट के जाने वाले

हर्षित मिश्रा ने अपना कलाम पेश किया- कहाँ कहाँ पे अक़ीदत से सर झुकाए कोई

क़दम क़दम पे हैं परवरदिगार एक से एक

शाहबाज़ तालिब ने अपना कलाम पढ़ा- खून अबके मेरे सीने से नही टपकेगा।

अबके आंसू तेरे ख़ंजर से निकल आएंगे।

सग़ीर उस्मानी साहब ने कलाम पेश किया- उन्हें पता है कि इंसानियत नही मरती।

मगर युगों से मुसलसल जला रहे हैं लोग।

आकिफ़ खोचड़ ने पढ़ा- हमी को लूटती है सारी पार्टियां आकिफ़

हमने हर बार ही सरकार बदलकर देखा।

इसके अलावा

नजमी कमाल साहब ने पढ़ा, , आतिफ गोंडवी, अल्हाज गोंडवी, , रेहान अशरफ, एहतमाम सादिक़, साजिद गोंडवी, क़ासिम गोंडवी, आदि शायरों ने अपना अपना कलाम पेश किया।

इस मौके पर मौजूद रहे, ताहिर हसन ताबिश, बाबू इसराईल, मोहम्मद जुनैद, खुर्शीद अजहरी, हाजी ज़की, राशिद इक़बाल ,फ़िरोज़ नेता, हाजी शोएबउद्दीन, अनिल तिवारी, शफ़ीक़ वारसी, नूर मोहम्मद, सिराज, चाँद कुरैशी, मोहम्मद शमीम, कमाल खान एडवोकेट, मोहम्मद इसरार एडवोकेट, एहतिशाम सिद्दीकी, डॉक्टर विक्की हाशमी, हाजी आरज़ू आदि लोग  मुशायरे में मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग