दिल्ली को राज्य का दर्जा मिलने के बाद भी कोई खास प्रगति नहीं हुई हैब्लीमरन दिल्ली में मजलिस वार्ड कार्यालय का उद्घाटन

 प्रेस विज्ञप्ति नई दिल्ली, नवंबर 28 दिल्ली जो देश की राजधानी है और एक राज्य का दर्जा रखती है लेकिन आज तक दिल्ली को वह विकास नहीं मिला जिसकी वह हकदार थी। भारत के लोग भी बुनियादी सुविधाओं से वंचित हैं। ये विचार कल कलीम अल- द्वारा व्यक्त किए गए थे- हफीज, all India Majlis ittehadul muslimeen दिल्ली के अध्यक्ष, जो पुरानी दिल्ली में ब्लिमरन वार्ड कार्यालय के उद्घाटन समारोह में प्रतिभागियों को संबोधित कर रहे थे।


यह राजधानी से है। क्योंकि सरकार के सभी शीर्ष अधिकारी राजधानी में रहते हैं। लेकिन की स्थिति हमारे देश की राजधानी इतनी खराब है कि यहां की हवा में सांस लेना भी मुश्किल है, जहां पीने का साफ पानी नहीं है। दिल्ली सरकार वहां शराब के ठेके खोल रही है। बेरोजगारी, अज्ञानता और गरीबी भी दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। कई स्कूल और विज्ञापनों पर खर्च की गई उतनी ही राशि से अस्पताल खोले जा सकते थे।  रा नाव में व्यस्त है।  राष्ट्रपति ने कहा कि पुरानी दिल्ली, जहां विधानसभा के मुस्लिम सदस्य शुरू से बैठे हैं, विभिन्न समस्याओं का सामना कर रहे हैं। हर जगह गंदगी के ढेर हर समय बीमारियों को आमंत्रित कर रहे हैं। प्रतिनिधियों को राष्ट्र की परवाह नहीं है, अन्यथा इसका कारण उर्दू माध्यम के स्कूल हैं इलाके में मर रहे हैं। कुछ पुराने कॉलेजों को छोड़कर, कोई नया स्कूल नहीं खोला गया है, सैकड़ों वक्फ संपत्तियों पर माफियाओं का कब्जा है और हमारे मुस्लिम प्रतिनिधि सो रहे हैं। कलीम अल-हफीज ने कहा कि उन्हें मुस्लिम प्रतिनिधि कहना गलत है क्योंकि वे सरकार की भाषा बोलते हैं। मजलिस-ए-इत्तेहाद-ए-मुसलमीन एक ऐसी पार्टी है जिसका एजेंडा मुसलमानों, दलितों और शीर्ष पर उत्पीड़ितों की समस्याओं को हल करना है। आनुपातिक स्कूल खोले जाएंगे। स्वास्थ्य और स्वच्छता व्यवस्था होगी सुधर जाओ, सबके साथ न्याय होगा।  कार्यक्रम की शुरुआत कारी फहद-उद-दीन वार्ड प्रभारी के पाठ से हुई।वार्ड अध्यक्ष मुहम्मद असद ने दर्शकों का धन्यवाद किया।

 अब्दुल गफ्फार सिद्दीकी

 मीडिया प्रभारी

 8287421080

 प्रकाशन के लिए

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत