राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष कमलेश यादव ने लखीमपुर खीरी कांड की निंदा की है किसानों को एक-एक करोड़ मुआवजा और सरकारी नौकरी देने की मांग की

 लखनऊ राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलेश यादव ने एक बयान जारी करके कहा कि लखीमपुर खीरी में किसानों के साथ बर्बरता हुई है। जिस तरह से विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों पर मंत्री के बेटे ने गाड़ी है चढ़ाकर उन्हें मरवाया है यह बहुत ही निंदनीय घटना है। और राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी इसकी कड़ी निंदा करती है। और मांग करती है कि मृतक किसानों के  परिजनों को एक-एक करोड़ रूपया और सरकारी नौकरी दी जाए।


उधर ताजा समाचार मिला है कि आईजी, कमिश्नर डीएम और एसएसपी के साथ राकेश टिकैत की वार्ता शुरू ,राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी, मंत्री अजय मिश्र टेनी को सस्पेंड करने, मृतक किसानों के परिजनों को एक-एक करोड़ मुआवजे की मांग की

-बसपा के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा को लखीमपुर खीरी जाने से पहले हाउस अरेस्ट कर दिया गया है


-किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने सैकड़ों समर्थकों के साथ घटनास्‍थल पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया के अनुसार रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य जिले में थे। दोपहर में उनको केंद्रीय राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के गांव बनवीरपुर जाना था। उप मुख्यमंत्री के आने के विरोध में सुबह से ही किसान उतर आए थे। तिकुनियां के महाराजा अग्रसेन इंटर कालेज में बनाए गए हेलीपैड पर किसानों ने ट्रैक्टर-ट्रालियां खड़ी कर दीं। सैकड़ों की संख्या में काले झंडे लेकर किसान वहां मौजूद थे और उप मुख्यमंत्री के विरोध का ऐलान कर रहे थे। 

इसी बीच अचानक बनवीरपुर की ओर से बेहद तेज गति से आती दो कारें किसानों के बीच घुस गईं। उनको रौंदती हुई चली गई। इसमें एक कार में केंद्रीय राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्र मोनू के सवार होने का दावा किसान यूनियन ने किया है हालांकि हालांकि केंद्रीय मंत्री की ओर से इससे इंकार किया गया है। हादसे में 12 से ज्यादा किसान जख्मी हो गए। इसके बाद आक्रोशित भीड़ ने हादसा करने वाली गाड़ियों में तोड़-फोड़कर आग लगा दी। कार में जो भाजपाई मिला, उसको पीटा। इसके बाद भगदड़ मच गई।

किसानों का आक्रोश देखकर पुलिस भी मैदान छोड़कर भाग खड़ी हुई। घटना में कई पत्रकार भी  गंभीर जख्मी हो गए। बवाल के बाद पुलिस ने तिकुनिया से पहले ही बैरीकेडिंग लगाकर रोक दिया। अफवाहों का बाजार गर्म हो गया। दर्जनों किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं की मौत की चर्चा होने लगी। देर रात केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र ने अपने ड्राइवर सहित चार भाजपा कार्यकर्ताओं की मौत का दावा किया। कुछ देर पर जिलाधिकारी अरविन्द चौरसिया ने कार दुर्घटना में चार लोगों के मरने की बात कही। लेकिन उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि मरने वाले चारों लोग किसान हैं या कोई और। न ही उन्होंने कुल मृतकों की संख्या के बारे में साफतौर पर कुछ कहा। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया