दंगा पीड़ितों की कानूनी सहायता के लिए जमीयत उलमा ए हिंद को दिया धन्यवाद,

कड़कड़डूमा कोर्ट में जमीयत की मदद से ज़मानत पाए लोगों से मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी और जमीयत के लोगों ने की मुलाकात 


नई दिल्ली ( अनवार अहमद नूर) 
दिल्ली दंगे में तबाह और बर्बाद हुए लोगों के अलावा बहुत बड़ी संख्या में ऐसे निर्दोष लोग भी हैं जिन्हें अनाप शनाप पकड़ कर केस लगा कर जेल भेज दिया गया है। और इन बेचारों की कहीं से मदद भी नहीं हो रही है। लेकिन जमीयत उलमा ए हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी के निर्देश पर दंगे के पहले दिन से ही पीड़ितों और प्रभावितों की पूरी पूरी मदद की जा रही है। लुटे पिटे लोगों को पुनर्स्थापित किया जा रहा है। रोज़गार शुरू करने के लिए आर्थिक सहायता दी जा रही है। और लोगों का इलाज कराया जा रहा है। शाहरुख और मोहम्मद वकील को बडे़ आपरेशन व इलाज के लिए मद्रास तक भेजा गया है। इस के अलावा दंगे में फंसे निर्दोष लोगों की कानूनी सहायता की जा रही है।


जमीयत की ओर से सहायता पाकर जेल से बाहर आने वाले लोगों और उनके परिवार के सदस्यों ने दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट पहुंच कर जमीयत के लोगों से मिलकर जमीयत के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी का आभार प्रकट करते हुए, जमीयत को धन्यवाद दिया। कोर्ट परिसर में ही जमीयत उलमा ए हिंद के महासचिव हकीमुद्दीन क़ासमी ने बताया कि अब तक लगभग 340 मुकदमों में ज़मानत मिल चुकी है जबकि 154 मुकदमों का ट्रायल शुरू हो चुका है। इन मुकदमों की पैरवी में जमीअत उलमा हिंद के वकीलों, अब्दुल गफ्फार, सलीम मलिक और शमीम अख्तर और अन्य साथियों की उन्होंने प्रसंशा करते हुए कहा कि इन्होंने कड़ा परिश्रम किया है। अब्दुल गफ्फार साहब की कोशिशों से जिन लोगों को ज़मानत मिली उनमें से लगभग चालीस लोग कड़कड़डूमा कोर्ट में जमीअत उलमा हिंद का शुक्रिया अदा करने के लिए पहुंचे। मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी ने उनसे भेंट की और इन सब की कुशल मंगल पूछी। साथ ही यह भी घोषणा की, कि जमीयत उलमा ए हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद असद मदनी ने दिल्ली दंगों से पीड़ितों व प्रभावितों के लिए पहले दिन से ही जमीयत के दरवाज़े खोल रखें हैं। और लगातार मदद पहुंचाई जा रही है और जो लोग इस तरह के मुकदमों में फंसे हुए हैं उनके सहयोग के लिए पूरी तरह से काम किया जा रहा है। जमीयत उलमा ए हिंद के आर्गनाइजर मौलाना गय्यूर अहमद क़ासमी, मौलाना यासीन जहाज़ी सहित कई अन्य लोग भी इस मुलाकात में शामिल रहे। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया