आज़मगढ़ के निज़ामाबाद के गंधुवई गांव में हुए पुलिसिया उत्पीड़न के बाद आज नट बस्ती में पीड़ितों से रिहाई मंच ने मुलाकात की.

 आज़मगढ़ के निज़ामाबाद के गंधुवई गांव में हुए पुलिसिया उत्पीड़न के बाद आज नट बस्ती में पीड़ितों से रिहाई मंच ने मुलाकात की. 


रिहाई मंच प्रतिनिधि मंडल में रिहाई मंच महासचिव राजीव यादव, मसीहुद्दीन संजरी, एडवोकेट विनोद यादव, इमरान, अवधेश यादव, हीरालाल यादव शामिल थे.

महिलाओं-बच्चों को पुलिस ने बर्बर तरीके से मारा-पीटा. 18 से अधिक महिलाओं को गंभीर चोटें आईं. छोटे-छोटे बच्चे भी पुलिसिया हिंसा के शिकार बने.




पीड़ितों ने बताया कि दोषी पुलिस वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई. 

रिहाई मंच दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग करते हुए पीड़ितों के साथ इंसाफ की मांग करता है.

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग