भारत के मशहूर आलम दीन मौलाना कलीम सिद्दीकी फुलत मुजफ्फरनगर वालों को उत्तर प्रदेश एटीएस ने गिरफ्तार करके नयायालय के समक्ष पेश किया।

 भारत के मशहूर आलम दीन मौलाना कलीम सिद्दीकी फुलत मुजफ्फरनगर वालों को उत्तर प्रदेश एटीएस ने गिरफ्तार करके नयायालय के समक्ष पेश किया। उत्तर प्रदेश एटीएस में जो दावा किया है उसके मुताबिक मौलाना कलीम सिद्दीकी पर निम्न प्रकार के आरोप लगाए गए हैं,जिसके आधार पर न्यायालय में रिमांड मांगा जा रहा है। 


धर्मांतरण मामला में यूपी की एटीएस टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। टीम ने मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिरफ्तार किया है। कहा जा रहा है कि, एक्ट्रेस सना खान का उसी ने कराया था निकाह.अवैध धर्मांतरण मामले में यूपी एटीएस ने एक और आरोपित मौलाना कलीम सिद्दीकी को मेरठ से गिरफ्तार किया है। वह जमीयत-ए-वलीउल्लाह ट्रस्ट का अध्यक्ष है. धर्मांतरण  मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपित उमर गौतम के संपर्क में रहे कलीम की भी सक्रिय भूमिका सामने आई है। कलीम के खिलाफ विदेश से तीन करोड़ रुपये की फंडिंग के साक्ष्य मिले हैं। वहीं, उमर गौतम व अन्य आरोपितों के साथ उसके रिश्तों की छानबीन चल रही है.चर्चा यह भी है कि पूर्व बालीवुड फिल्म अभिनेत्री सना खान का निकाह मौलाना कलीम सिद्दीकी ने ही कराया था। सना खान ने अपना फिल्मी करियर छोड़कर एक मौलाना से निकाह करने के बाद इस्लामिक परंपरा से जीवन व्यतीत करने का फैसला किया था, जो काफी चर्चा का विषय बना था।

अब मतांतरण के मामले में मौलाना सिद्दीकी से पूछताछ के बाद चौंकाने वाले राजफाश हुए हैं.एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि 20 जून को अवैध धर्मांतरण गिरोह संचालित करने वाले लोग गिरफ्तार गिए गए थे। इस संबंध में मुकदमा दर्ज किया गया था. उमर गौतम और इसके साथियों को ब्रिटिश आधारित संस्था से लगभग 57 करोड़ रुपये की फंडिंग की गई थी. जिसके खर्च का ब्योरा अभियुक्त नहीं दे पाए. इस संबंध में आज के अभियुक्त को छोड़कर कुल 10 लोग गिरफ्तार हुए थे जिसमें से 6 के खिलाफ विभिन्न तिथियों में चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है, 4 के खिलाफ जांच चल रही है।
एडीजी ने आगे बताया कि जांच में तथ्य प्रकाश में आए कि मौलाना कलीम सिद्दीकी अवैध धर्मांतरण के कार्य में लिप्त है और विभिन्न प्रकार की शौक्षणिक, सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं की आड़ में यह देशव्यापी स्तर पर किया जा रहा है, जिसके लिए विदेशों से भारी फंडिंग प्राप्त की जा रही है. जो सुनियोजित तरीके से संगठनात्मक रूप से किया जा रहा है। जिसमें देश के कई नामी लोग और संस्था शामिल हैं।तथ्य प्रमाणित हुआ है कि यह भारत का सबसे बड़ा धर्मांतरण सिंडिकेट संचालित करता है, गैर मुस्लिमों को गुमराह करके, डराकर धर्मांतरित करता है।




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत