रेशम सिंह प्रकरण में समाजसेवी संस्थाओं व जनता के बढ़ते समर्थन से चिंतित‌ सपा ने भी दिया समर्थन।

 रेशम सिंह प्रकरण में

यासमीन जहां, पूनम पंडित, राफिया शबनम के समर्थन में आने से पैनी नजर द्वारा दिया जा रहा धरना बन सकता है जन आंदोलन।


बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट


रेशम सिंह प्रकरण में  समाजसेवी संस्थाओं व जनता के बढ़ते समर्थन से चिंतित‌ सपा ने भी दिया समर्थन।





बरेली 25 जून,

  पैनी नजर सामाजिक संस्था के द्वारा दिए जा रहा धरना आज पांचवें दिन भी जारी रहा, रेशम सिंह प्रकरण पर संस्था पदाधिकारियों एक्स आर्मी की टीम व सिख समुदाय के गणमान्य लोगों के साथ कल जॉन अधिकारी एडीजी से मुलाकात की गई थी जो काफी सकारात्मक रही थी । आज धरने में किसान आंदोलन की बहुचर्चित हस्ती पूनम पंडित युवा क्रांतिकारी का आगमन हुआ पूनम पंडित ने बताया कि मुझे जैसे ही सोशल मीडिया से पता लगा कि एक सैनिक के न्याय के लिए एक संस्था अध्यक्ष धरने पर बैठे हैं तो उन्होंने उस धरने का समर्थन करने के का निश्चय किया और वह गरीब 1:00 बजे धरने पर पहुंची और धरने पर उन्होंने संस्था का पुरजोर समर्थन किया संस्था का हौसला बढ़ाया और इसके अलावा उन्होंने कहा एक सैनिक की भाई की लड़ाई में पूनम पंडित हर तरह से उसके साथ है। इसके बाद धरने पर समाजवादी पार्टी के नगर अध्यक्ष शमीम खा सुलतानी व उनकी टीम का आना हुआ, और उन्होंने भी पैनी नजर सामाजिक संस्था को अपना समर्थन पत्र दिया इसके बाद कई समाजसेवी संस्थाएं भी एक सैनिक के सम्मान की लड़ाई में अपना समर्थन देने पहुंचे और मैं नारी शक्ति नारी सम्मान सेवा समिति जिसकी अध्यक्ष यासमीन जहां वह सब का हक संस्था की अध्यक्ष भी अपनी टीम के साथ धरने में पहुंचे बराबर धरने का समर्थन करने लोग आने लगे। उसके बाद संसाधन एडवोकेट, सुनीता गंगवार व एक्स सर्विस मैन कोआर्डिनेशन कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सूबेदार एवं उनकी पूरी टीम राजू हवलदार रमेश वाह पंकज पवार व नारायण दास आदि लोग बराबर धरने पर बैठे रहे उसके पश्चात एक्स आर्मी का प्रतिनिधि मंडल व संस्था अध्यक्ष पा पीड़ित रेशम सिंह एडीजी बरेली जोन के पास अपनी लिखित मांग को लेकर गए इस मांग को संस्था अध्यक्ष एडवोकेट सुनीता गंगवार ने प्रस्तुत किया जिस पर एडीजी जोन बरेली ने पीड़ित व पूरे प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया कि अब तक जो हो चुका अब निष्पक्ष कार्यवाही होगी जो मांगे संसाधन ले रखी वह थी कि सरदार रेशम सिंह पूर्व सैनिक व उनकी बहनों पर जो मुकदमा दर्ज किया है वह खत्म किया जाए एवं मिलिट्री हॉस्पिटल के मेडिकल के आधार पर स्थानीय पुलिस पर जो मुकदमा दर्ज है उसमें धाराओं का को बढ़ाया जाए और इसकी विवेचना बरेली जिले के क्राइम ब्रांच से कराई जाए और यह सारी कार्यवाही आईजी बरेली के सुपर विजन में की जाए इस मांग को स्वीकारते हुए एडीजी ने प्रतिनिधिमंडल पीड़ित व संस्था अध्यक्ष को पूरा भरोसा दिलवाया कि मैं निष्पक्ष कार्यवाही करवा लूंगा और आपको न्याय जरूर मिलेगा इस बार सभी लोगों ने अपनी संतुष्टि की सहमति दें इसके बाद संस्था अध्यक्ष ने कहा की अब जो भी अग्रिम कार्यवाही होगी संस्था उस पर अपनी पूरी पैनी नजर रखेगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया