बलरामपुर के सादुल्लाहनगर के बसालत पुरवा में शादी समारोह के दौरान दो पक्षों में मरमीट मामले में रिहाई मंच के नेता शबरोज़ मोहम्मदी ने सवाल उठाए।

 बलरामपुर के सादुल्लाहनगर के बसालत पुरवा में शादी समारोह के दौरान दो पक्षों में मरमीट मामले में रिहाई मंच के नेता शबरोज़ मोहम्मदी ने सवाल उठाए।



बलरामपुर : सादुल्लाहनगर थाना क्षेत्र के ग्राम  बसालत पुरवा में शादी समारोह के दौरान बारातियों, दूल्हा दुल्हन के परिवार जनों तथा अतिथियों पर हमला कर उनके साथ मारपीट के मामले में पुलिस कार्यवाही और उतरौला विधायक की भुमिका पर प्रश्न चिन्ह लगाया। 


    रिहाई मंच के नेता "शबरोज़ मोहम्मदी" ने दो पक्षों में मारपीट की घटना में पुलिस की एक पक्षीय कार्यवाही की निन्दा करते हुए कहा कि पुलिस की भूमिका निराशा जनक रही जिसकी वजह से वर्दी को भी शर्मसार होना पड़ रहा है क्यों कि पुलिस का कोई पक्ष नहीं होना चाहिए बल्कि निष्पक्ष होकर क़ानूनी कार्यवाही के ज़रिए पुलिस के प्रति लोगों के विश्वास को यक़ीनी बनाना चाहिए। मगर इस प्रकरण में सत्ताधारी नेताओं के दबाव में पुलिस ने जिस तरह एक तरफ़ा कार्यवाही की उसकी वजह से पुलिस कार्यवाही पर प्रश्न चिन्ह लग रहे हैं। "शबरोज़ मोहम्मदी" ने कहा कि एक तरफा कार्यवाही करते हुए जिन लोगों को पुलिस ने गिरफ़्तार करके संगीन धाराओं में जेल भेजा था उन्हें न्यायालय से इंसाफ़ के तौर पर ज़मानत मिल गई है जिस्से यह साफ़ ज़ाहिर होता है कि पुलिस की कार्यवाही कितनी निष्पक्ष थी? अंत में शबरोज़ मोहम्मदी ने पीड़ितों को इंसाफ़ दिलाने के लिए हर सम्भव प्रयास की बात कही। पुलिस पूरे प्रकरण में लगाए जा रहे आरोपों को निराधार बताते हुए निष्पक्ष कार्यवाही की बात कह रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया