बंगाल के दो मंत्री सीबीआई की गिरफ्त में,ममता पहुंची सीबीआई दफ्तर , कहा मुझे भी गिरफ्तार करो*

 *बंगाल के दो मंत्री सीबीआई की गिरफ्त में,ममता पहुंची सीबीआई दफ्तर , कहा मुझे भी गिरफ्तार करो*


बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट


कोलकाता :-राज्यपाल के इजाज़त देने के बाद ही यह उम्मीद की जा रही थी कि ममता मंत्रिमंडल के सदस्य अरेस्ट होंगे। अभी शपथ ग्रहण के चंद दिन ही हुए थे कि सीबीआई ने नारद स्टिंग की फ़ाइल खोल दी और ममता के करीबी माने जानेवाले दो मिनिस्टर फिरहाद हाक़िम बॉबी और सुब्रतो मुखर्जी को गिरफ्तार कर लिया। शुभेंदु के पार्टी छोड़ने के बाद बॉबी हाकिम सीएम के राइट हैंड बन गए थे।

नारद घूस कांड में पश्चिम बंगाल के मंत्री फ़िरहाद हक़ीम और सुब्रत मुखर्जी की गिरफ़्तारी के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ख़ुद सीबीआई दफ़्तर पहुँच गईं और अफ़सरों को चुनौती देते हुए कहा कि वे उन्हें गिरफ़्तार करें। 

केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) ने इसके पहले सोमवार सुबह फ़िरहाद हक़ीम को कथित नारद घूस कांड में गिरफ़्तार कर लिया। वह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नजदीक समझे जाते हैं और इस बार के विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर कोलकाता पोर्ट से चुने गए हैं।

सीबीआई मदन मित्र और शोभन देव चट्टोपाद्याय को भी कोलकाता स्थित केंद्र सरकार के परिसर निज़ाम पैलेस ले गई है, जहाँ उनसे पूछताछ की जा रही है। ये तीनों ही तृणमूल कांग्रेस के विधायक हैं।



पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ ने बीते दिनों ही सीबीआई को इसकी इजाज़त दी थी।

टीएमसी ने कहा कि कोरोना काल में चुनाव कराकर , सेंट्रल एजेंसियों का दुरुपयोग करने के बाद भी जब मोदी-शाह सत्ता हासिल नहीं कर पाए तब गवर्नर को आगे कर एक चुनी हुई सरकार को परेशान कर रहे हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया